सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने अपने कार्यकारी निदेशक के बयान से अपने-आप को अलग कर कहा कि भारत सरकार ने उपलब्ध वैक्सीन पर विचार किए बिना सभी आयु के लोगों के लिए कोरोना वायरस का टीकाकरण आरंभ कर दिया।
Serum Institute of India ने कहा कि यह कंपनी का सोच नहीं है। Union Health Ministry को 22 मई को लिखे गए पत्र में पुणे स्थित SII में सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने साफ किया कि अभी कुछ दिन पहले ही एक कार्यक्रम में इसके कार्यकारी निदेशक सुरेश जाधव के जरिए दिए गए अपने बयान Serum Institute of India का बयान नहीं है।
उन्होंने अपने पत्र में कहा, अपने CEO अदार सी. पूनावाला की तरफ से मैं आपको बताना चाहता हूं कि यह बयान सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से नहीं दिया गया है, यह मेरे बयान से Serum Institute of India खुद को अलग करती है।

‘टूलकिट’ मामले में B J P प्रवक्ता संबित पात्रा को नोटिस, पेश होने का दिया निर्देश

उन्होंने कहा, ”SIIPL कोविशील्ड का उत्पादन बढ़ाने के लिए Determined है व कोरोना वायरस के खिलाफ इस जंग में वह भारत सरकार के साथ हमेशा खड़ी है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने यह भी स्पष्ट किया कि Poonawala कंपनी की तरफ से एकमात्र प्रवक्ता हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है