ज़रूरतमंद लोगों का मुफ्त हो सके इलाज इसके लिए बिहार सरकार जोड़ेगी Safety Fund

हर साल न जाने देश में कितने लोग road accident में घायल होते हैं और अपनी जान गंवा देते हैं। घायलों को बेहतर इलाज मिल सके इसके लिए अब बिहार में Road Safety Fund बनाया जाएगा। Central government बड़ी योजना road accident में घायलों के जान-माल की सुरक्षा सुनिश्चित करने और Cashless treatment को लेकर केंद्र के निर्देश पर Bihar Government Road Safety Fund बनाएगी। दिल्ली में हुई National Development Council की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

सरकार और किसानों के बीच गतिरोध टूटने के संकेत

इस बैठक के पहले सत्र में National Road Safety Council तो दूसरे सत्र में National Development Council की बैठक हुई। दोनों बैठकों में सड़क दुर्घटना और इससे होने वाली मौतों को कम करने के लिए बिहार की ओर से central government को आवश्यक सुझाव दिए गए। बता दें कि Union Minister for Road Highways and Transport नितिन गडकरी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में Union Minister of State वीके सिंह, Road ministry के सचिव गिरिधर अरमान मौजूद रहे। बिहार से इस बैठक में Transport Department की मंत्री Sheela Kumari और ओएसडी आजीव वत्स शामिल हुए।

इलाज पर डेढ़ लाख होगा खर्च

  • सड़क दुर्घटना का इलाज फ़ौरन किया जा सके इसके लिए परिवहन विभाग निजी अस्पतालों को जोड़ेगा।
  • अधिसूचना जारी होते ही स्वास्थ्य विभाग के साथ बैठक कर इस पर निर्णय लिया जाएगा।
  • निजी अस्पतालों में कितने पैसे तक का मुफ्त इलाज हो, यह तय हो गया है।
  • अधिकतम डेढ़ लाख रुपए तक सरकार घायल के इलाज पर खर्च करेगी।
  • सरकारी अस्पतालों में भी इलाज के दौरान दिक्कत नहीं हो, इसकी मुकम्मल व्यवस्था होगी।
  • घायलों को सबसे पहले सरकारी अस्पताल लाया जाएगा। इसके बाद जरूरत हुई तो उन्हें निजी अस्पतालों में भेजा जाएगा।
  • Road accident के बाद आम लोग घायल को तुरंत अस्पताल पहुंचाएं, इस विषय पर लोगों को जागरूक किया जाएगा।
  • लोगों को यह बताया जाएगा कि अस्पताल पहुंचाने वालों से पुलिस पूछताछ नहीं करेगी।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं