Rakesh Tikait की महापंचायत में स्वागत के लिए मंगवाए कई क्विंटल फूल

Agricultural laws के खिलाफ दिल्ली सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन को गति देने Indian Farmer’s Union के राष्ट्रीय प्रवक्ता Rakesh Tikait 3 फरवरी को खरावड़ आ रहे हैं। यहां वे किसानों में जोश भरने का काम करेंगे। उनके रोहतक आगमन पर किसानों की ओर से पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया जाएगा। यह फैसला मंगलवार को खरावड़ में किसानों के लिए लगाए गए शिविर पर खरावड़ के ग्रामीणों ने लिया।

जींद के कंडेला गांव में बुधवार को होने वाली भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता Rakesh Tikait की महापंचायत में उमड़ने वाली भीड़ जींद में किसान आंदोलन के लिए नई रणनीति बनाने का काम करेगी। यदि भीड़ उम्मीद से अधिक आई तो आंदोलन की रूपरेखा मंच से ही सुनाई जाएगी। नहीं तो Andolan की रणनीति के बारे में बाद में लोगों को बताया जाएगा।

3 फरवरी को किसान नेता टिकैत पहले कंडेला और फिर खटकड़ टोल पर चल रहे धरना स्थल पर लोगों को संबोधित करेंगे। इस बीच देर रात राकेश टिकैत ने कहा कि लोनी विधायक Nandkishore Gurjar  ने Andolan के दौरान सामान और कंबल भिजवाए थे।

कंडेला खाप के ऐतिहासिक चबूतरे पर उनके लिए चाय-नाश्ते का प्रबंध किया गया है। वहीं महापंचायत Sports Stadium में होगी। इस दौरान वाहनों की पार्किंग के लिए 3 एकड़ में व्यवस्था की गई है। टिकैत के स्वागत के लिए ग्रामीणों ने कई क्विंटल फूल मंगवाए हैं। पहले महापंचायत गांव के बीच स्थित कंडेला खाप के ऐतिहासिक चबूतरे पर की जानी थी लेकिन भीड़ अधिक होने की संभावना के चलते सात एकड़ में बने Sports Stadium को चुना गया है।

लंगर के संचालक यशवंत मलिक ने शिविर में सेवारत ग्रामीणों की बैठक लेते हुए किसान नेता के स्वागत को लेकर चर्चा की। स्वागत में किसी तरह की कसर न रहे, इसके लिए किसानों को जिम्मेदारियां सौंपी गई। इसके तहत उनका पगड़ी पहनाकर स्वागत किया जाएगा। Rakesh Tikait यहां किसानों को संबोधित भी करेंगे। इसके लिए 24 बाई 24 फुट का मंच लगाया गया है। यहां 15 से 20 प्रबुद्धजनों के बैठने की व्यवस्था रहेगी। बुधवार सुबह रागिनी से कार्यक्रम का शुभारंभ होगा।

लंगर पर भी खास व्यंजन बनाए जाएंगे। यहां रोज की तरह एक नहीं, तीन तरह की सब्जियां बनाई जाएगी। इसमें आलू-मटर, दाल मखनी व मिक्स वेज शामिल है। मीठे में किसान नेता के लिए हलवा बनेगा। पूरी के साथ रोटियों की भी व्यवस्था रहेगी।

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन: बदले-बदले से नजर आ रहे हैं Rakesh Tikait के तेवर

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है