गर्मी के बाद बारिश ने राहत तो पहुंचाई लेकिन ये बारिश कई जगह आफत भी ले आई है। Uttarakhand में हो रही भारी बारिश की वजह से 107 Roads बंद हो गई। इस वजह से लोगों को आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। लगातार हो रही बारिश की वजह से Roads को खोलने के काम में भी बाधा आ रही है, जिससे Roads कम मात्रा में खुल पाई हैं।

प्रदेश के गढ़वाल व कुमाऊं मंडल के विभिन्न जिलों में सड़कों पर मलबा आने से यातायात प्रभावित हुआ है। Roads के बंद होने के बाद गाड़ियों की लंबी-लंबी लाइनें लग गई हैं, जिससे यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोनिवि के एचओडी हरिओम शर्मा ने बताया कि रविवार को राज्य में कुल 107 Roads बंद हो गई। उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से Roads को खोलने के लिए कुल 277 जेसीबी मशीनों को लगाया गया है।

जिला प्रशासन ने लोडर मशीन लगाकर Roads को खोलने का जिम्मा उठाया है। बारिश होने से व्यवधान पैदा हो रहा है। सरयू नदी में कठायतबाड़ा और खरेही पंपिंग योजना भी प्रभावित हो गई है। नदी में भारी मात्रा में सिल्ट आने से पानी ठीक से फिल्टर नहीं हो पा रहा है। जिससे गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है। इधर जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी ने बताया कि बंद मार्ग को खोलने का काम चल रहा है। जल्दी सभी बंद 12 Roads खोल दी जाएंगी।

कड़ी मशक्कत के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग में आवाजाही शुरू की जा सकी। स्वाला के समीप पहाड़ी से बीते लंबे समय से मलबा और पत्थर गिर रहे हैं। बावजूद इसके इस संवेदनशील स्थान पर Road खोलने के लिए समुचित संसाधन नहीं हैं। इससे Road खोलने में दिक्कत हो रही है। एक जेसीबी मशीन तैनात किए जाने को लेकर यात्रियों ने नाराजगी जताई है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है