प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक बार फिर रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित किया।

इस बार ई-सिगरेट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ने देश की जनता को संबोधित किया। वहीं सबसे पहले अपने संबोधन में पीएम मोदी ने देशवासियों को नवरात्रि समेत अन्य त्योहारों की बधाई दी साथ ही 150वीं गांधी जयंती को विशेष बनाने और सिंगल यूज प्लास्टिक से देश को मुक्त कराने की अपील की।

प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात में तंबाकू का जिक्र करते हुए लोगों से नशे से दूर रहने की अपील की 

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात में तंबाकू का जिक्र करते हुए लोगों से नशे से दूर रहने की अपील की है. पीएम मोदी ने कहा कि तंबाकू कई जानलेवा बीमारियों को जन्म देता है। तंबाकू से दिमाग का विकास प्रभावित होता है, सेहत के लिए हानिकारक है इसलिए इससे बचने की कोशिश करनी चाहिए। इस दौरान अपने संबोधन में पीएम मोदी ने ई-सिगरेट का विशेष तौर पर जिक्र किया और बताया कि आखिर क्यों इस पर प्रतिबंध लगाया गया है. पीएम मोदी ने कहा इसमें भी नुकसानदायक केमिकल होते हैं और लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है. पीएम मोदी ने युवाओं से ई-सिगरेट से दूर रहने का आग्रह किया।

2 अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति के लिए शुरू होने वाले अभियान में शामिल होने का आग्रह भी किया।

 2 अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति के लिए शुरू होने वाले अभियान में शामिल होने का आग्रह भी किया।

पीएम मोदी ने कहा कि ई-सिगरेट के बारे में गलत धारणा पैदा की गई है कि इससे कोई खतरा नहीं है। जबकि सामान्य सिगरेट से अलग ई-सिगरेट में निकोटिन युक्त तरल पदार्थ को गर्म करने से एक प्रकार का केमिकल युक्त धुंआ बनता है जो सेहत के लिए हानिकारक है। वहीं 2 अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति के लिए शुरू होने वाले अभियान में शामिल होने का आग्रह भी देश की जनता से किया।