पंचायत चुनावों की तैयारियां तेज

पंचायत चुनावों को लेकर  आरक्षण सूची जारी करने का कार्य किया जा रहा है। जो जिले बच गये हैं उनमें सूची का इंतजार लोग कर रहे हैं जिसे आज जारी किया जा सकता है. जिला प्रशासन के द्वारा आरक्षण तय किये जाने से सैकड़ों लोगों को नि राशा हाथ लगी है क्योंकि वे इस चुनावों से बाहर हो गए हैं. वे अब इस बार का पंचायत चुनाव लड़ने में सक्षम नहीं हैं।

आपको बता दें, ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि उनकी सीट जनरल से रिजर्व कोटे  में आ गई है. यही वजह है कि ऐसे लोग इस चुनाव के लिए अपनी पात्रता खो चुके हैं. ऐसे लोग चुनाव प्रचार में लगे हुए थे और अभी तक चुनावों में जो खर्च किये गये पैसे हैं उस पर भी पानी फिर गया है.आरक्षण की सूची जारी होने के बाद हजारों गांव का राजनीतिक समीकरण बिगड़ चुका है. सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को हुई है जो चुनाव की तैयारी में लगे हुए थे लेकिन, अब चुनाव से वे बाहर हो चुके हैं. सैकड़ों की संख्या में सीटों की स्थिति बदलती नजर आ रही है।

ICC T-20 रैंकिंग- राहुल दूसरे नंबर पर बरकरार

आपको बता दें, 15 मार्च को आरक्षण सूची पर 8 मार्च कर आपत्तियां दर्ज करायी जा सकती है. 12 मार्च तक उनका निस्तारण किया जाएगा और अंतिम सूची का प्रकाशन 13 एवं 14 मार्च, 2021 को किया जाएगा।  इधर मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चुनाव आयोग मार्च के आखिरी सप्ताह में चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी कर सकता है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि यूपी पंचायत चुनाव चार चरणों में कराये जाएंगे. खबरों की मानें तो इस बार पंचायत चुनाव के लिए चार चरणों का मतदान बोर्ड परीक्षा शुरू होने से पहले यानि 24 अप्रैल से पहले पूरा कराने का काम किया जाएगा।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है