pradosh vrat
pradosh vrat

Pradosh Vrat करने से भक्त की सभी मनोकामनाएं होती हैं पूर्ण

आज देशभर में Pradosh Vrat रखा जा रहा है। असल में बुधवार के दिन पड़ने वाले Pradosh Vrat को बुध Pradosh Vrat कहते हैं। Pradosh Vrat के दिन भगवान Shiv की पूजा का विधान है। मान्यता है कि इस दिन भगवान Shiv की पूजा-अर्चना व व्रत रखने से भक्त की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। जीवन में खुशहाली आती है।

जानें, Pradosh Vrat का शुभ मुहूर्त

  • 24 फरवरी 2021, दिन बुधवार
  • माघ शुक्ल त्रयोदशी तिथि प्रारंभ 24 फरवरी को शाम 06:05 मिनट पर।
  • समाप्त 25 फरवरी को शाम 05:18 मिनट पर।

इस तरह रखें Pradosh Vrat

जानें, आज के दिन जन्मे हुए लोगों का कैसा बीतेगा साल

  • Pradosh Vrat के उद्यापन से एक दिन पूर्व श्री गणेश का पूजन किया जाता है।
  • पूर्व रात्रि में कीर्तन-भजन करते हुए जागरण किया जाता है।
  • Pradosh Vrat को ग्यारह या फिर 26 त्रयोदशियों तक रखने के बाद व्रत का उद्यापन त्रयोदशी तिथि पर ही करना चाहिए।
  • इसके बाद ‘ऊँ उमा सहित शिवाय नम:’ मंत्र का एक माला यानी 108 बार जाप करते हुए हवन किया जाता है।
  • Pradosh Vrat उद्यापन के हवन में आहुति के लिए खीर का प्रयोग किया जाता है।
  • हवन पूरा होने के बाद भगवान शिव की आरती की जाती है।
  • इसके बाद ब्रह्माणों को भोजन कराकर सामर्थ्य अनुसार दान दक्षिणा दी जाती है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है