Vaccination पर खर्च और सामान्य व्यक्तियों के लिए टीके की कीमतों पर फैसला होना बाकी

मर्ज़ की अगर दवा मिल जाए तो आधा ठीक तो मरीज़ दवा देखकर ही हो जाता है। कुछ ऐसा ही कोरोना का टिका मिलने पर लोगों के बीच देखने को मिल रहा है। 3 दिन बाद देश में दुनिया का सबसे बड़ा Vaccination कार्यक्रय शुरू होगा। इससे पहले टीके की डोज राज्यों को मिलना शुरू हो चुका है लेकिन टीके की कीमतों को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं।

देश में फिलहाल 2 तरह के टीके को emergency में इस्तेमाल की अनुमति दी गई है। अगले 1 महीने में 2 और टीके सामने आ रहे हैं जिनमें से एक स्वदेशी Zydus Cadila कंपनी का है। जबकि दूसरा रूस का स्पूतनिक-5 टीका है। फिलहाल यह दोनों टीके Final stage test स्थिति में चल रहे हैं। Government Scheme के ही मुताबिक, मार्च महीने के पहले Week तक देश में 4 और अप्रैल महीने के अंत तक 5 तरह के टीके उपलब्ध होंगे। तब तक देश में 3 करोड़ health worker और सुरक्षा जवानों को टीका दिया जाएगा। Market में 5 तरह के टीके उपलब्ध होने के बाद इनकी Price में भी कमी आएगी और PM मोदी राज्यों के साथ मिलकर फिर कीमतों पर विचार करेंगे।

एलन मस्क भारत के Automobile market में रखने जा रहे हैं कदम, इस जगह कराया रजिस्ट्रेशन

Union Ministry of Health के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बीते सोमवार को CM के साथ हुई बैठक में कुछ राज्यों से यह मांग की गई थी कि Vaccination का पूरा बजट central government द्वारा वहन किया जाए। इस पर PM मोदी ने सभी CM के साथ योजना को साझा करते हुए कहा है कि अगले 2 से 3 महीने में 4 से 5 तरह के टीके आने के बाद फिर से बैठकर कीमत और बजट पर चर्चा की जाएगी। बता दें कि अभी तक की स्थिति के मुताबिक पहले 3 करोड़ लोगों को Prime Minister’s Relief Fund की ओर से टीका निशुल्क दिया जाना है। वहीं एक व्यक्ति को प्रति डोज कम से कम 500 से 1 हजार रुपये की कीमत हो सकती है। हालांकि अभी टीका हर किसी को उपलब्ध नहीं है, लेकिन जून महीने तक market में इसका विकल्प मिलने की उम्मीद है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं