देश के कोने कोने में CAA को लेकर विरोध हुआ। हिंसा की इस आग में कई लोगों की जान भी गयी  हैं

जहां देश में बीते दिनों नागरिकता संशोधन कानून के लागू होने के बाद से ही काफी विवाद देखने को मिला। देश के कोने कोने में इस कानून को लेकर विरोध हुआ। हिंसा की इस आग में कई लोगों की जान भी गयी हैं लेकिन इस कानून के लागू होने के बाद अब 1 महीने होने को हैं लेकिन अब तक इस नागरिकता संशोधन कानून का विरोध थमने का नाम नही ले रहा हैं। वही इस कानून को लेकर हो रही हिंसा और विवाद के पीछे की एक बड़ी वजह ये भी हैं कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लोगों के बीच भ्रम फैलाया जा रहा है। विपक्षी पार्टियां सियासी पैंतरे अपनाते हुए लोगों के बीच नागरिकता संशोधन कानून को लेकर गलत बातें फैला रहे हैं। इतने समय बितने के बाद भी अब जब देश में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध रुकने का नाम नही ले रहा हैं तो ऐसे में प्रधानमंत्री ने खुद इस विरोध का भ्रम  खत्म करने को लेकर एक बड़ा कदम उठाया हैं।

PM Modi ने CAA को लेकर कही ये खास बातें...

जी हां बता दे कि बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कड़ा विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा हैं। तो ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने National Youth Day के मौके पर बंगाल में रैली की और इसी बीच उन्होने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भी कई बड़ी बातें की । पीएम मोदी ने बेलूर मठ को अपना ‘घर’ बताते हुए कहा, ‘नागरिकता संशोधन कानून को लेकर युवाओं में बड़ी चर्चा है। बहुत से सवाल युवाओं के मन में भर दिए गए हैं। बहुत से युवा अफवाहों के शिकार हुए हैं। ऐसे युवाओं को समझाना और संतुष्ट करना हम सबकी जिम्मेदारी है। और ऐसे में पीएम मोदी ने कहा कि National Youth Day के मौके पर युवाओं के बीच नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भ्रम फैलाया गया हैं। यह फैसला काफी सोच समझ कर लिया गया हैं यह फैसला ना ही रातों रात लिया गया और ना ही इसे रातों रात लागू किया है। साथ ही पीएम मोदी ने यह भी कहा कि नागरिकता संशोधन कानून किसी की नागरिकता छिनने के लिए नहीं बनाया गया बल्कि यह कानून लोगों को नागरिकता देने के लिए बनाया हैं।