दो लगातार दिनों में Petrol के दाम 49 पैसे प्रति लीटर बढ़े

कोरोना की मार ऊपर से महंगाई की मार, आम आदमी करे भी तो क्या…? 5 दिन स्थिर रहने के बाद आज एक बार फिर Petrol-Diesel की कीमतें बढ़ी हैं। सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने Petrol व Diesel दोनों ईंधनों की कीमत में प्रति Liter 25-25 पैसे की बढ़ोतरी कर दी है।

वाहन ईंधन कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम लगातार 7 दिन तक बढ़ा है। American West Texas Intermediate 1.3% बढ़कर 53.88 डॉलर प्रति बैरल हो गया है। वहीं ब्रेंट कच्चा तेल 79 सेंट बढ़कर 57.37 प्रति डॉलर पर पहुंच गया है। 7 जनवरी को Petrol 84.20 रुपये प्रति Liter के Record पर पहुंचा था। बता दें कि इससे पहले 4 अक्टूबर, 2018 को Delhi में पेट्रोल 84 रुपये per Liter के उच्चस्तर पर पहुंचा था। इसी दिन Diesel भी 75.45 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्डस्तर पर था।

Bank account हो गया है बंद तो इस तरह निकालें पैसा

Delhi में 13 january को Petrol 84.45 रुपये और Diesel 74.63 रुपये प्रति लीटर पर चला गया। जयपुर के श्रीगंगानगर में Petrol अब 100 रुपये Liter के और करीब आ गया है। यहां 1 लीटर पेट्रोल के लिए अब 95 रुपये 78 पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं।

विदेशी मुद्रा दरों के साथ International market में क्रूड की कीमत के आधार पर रोज Petrol और Diesel की कीमतों में बदलाव होता है। Oil Marketing Companies कीमतों की समीक्षा के बाद रोज़ाना Petrol और Diesel के रेट तय करती हैं। Indian Oil, Bharat Petroleum और Hindustan Petroleum रोज़ाना सुबह 6 बजे Petrol और Diesel की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं।

Petrol व Diesel के दाम में excise duty, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। अगर central government की excise duty और State governments का वैट हटा दें तो डीजल और पेट्रोल का रेट लगभग 27 रुपये Liter रहता, लेकिन चाहे केंद्र हो या राज्य सरकार, दोनों किसी भी कीमत पर टैक्स नहीं हटा सकती। क्योंकि राजस्व का एक बड़ा हिस्सा यहीं से आता है। इस पैसे से विकास होता है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं