Corona काल में सबको एक ही चिंता है कि किसी तरह बस Vaccine हमें लग जाए इसी बीच पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट्स के एक ग्रुप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपी अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि जो लोग Corona virus संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, उन्हें Vaccine देने की कोई जरूरत नहीं है। साथ ही इस समूह ने सरकार को चेताया है कि बड़े पैमाने पर, अंधाधुंध और अपूर्ण टीकाकरण Corona virus के उत्परिवर्तित स्वरूपों के उभार की वजह बन सकता है। उन्होंने सुझाव दिया है कि जो लोग Corona virus संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, उनके टीकाकरण की कोई आवश्यकता नहीं है।

PM Modi को सौंपी गई रिपोर्ट में यह रेखांकित किया गया है कि कम उम्र के वयस्कों और बच्चों का टीकाकरण साक्ष्य समर्थित नहीं है और यह किफायती नहीं होगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि अनियोजित टीकाकरण से वायरस के उत्परिवर्तित स्वरूपों को बढ़ावा मिल सकता है। इसमें कहा गया है कि जो लोग Corona virus संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, उनके टीकाकरण की अभी कोई आवश्यकता नहीं है।

इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन, इंडियन एसोसिएशन ऑफ एपिडमोलॉजिस्ट्स और इंडियन एसोसिएशन ऑफ प्रीवेंटिव एंड सोशल मेडिसिन के विशेषज्ञों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, ‘देश में महामारी की मौजूदा स्थिति मांग करती है कि इस चरण में सभी आयु समूहों के लिए टीकाकरण को खोलने की जगह हमें महामारी संबंधी आंकड़ों से खुद को निर्देशित करना चाहिए।’ समूह ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कहा है कि बड़े पैमाने पर लोगों के टीकाकरण की जगह केवल उन लोगों का टीकाकरण किया जाना चाहिए जो संवेदनशील और जोखिम श्रेणी में शामिल हैं। इस समूह में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टर Covid-19 संबंधी राष्ट्रीय कार्यबल के सदस्य भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: देशभर में तेल की कीमतों पर आज Congress का सांकेतिक प्रदर्शन

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है