पिछली बार नियम का पालन न करने पर जो जुर्माना 2 हजार रुपये था, उसे बढ़ा कर 4 हजार रुपये कर दिया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए 4 नवंबर से 15 नवंबर तक ऑड ईवन लागू होने की अतिंम घोषणा कर दी है। इसमें दूसरे राज्यों की गाड़ियों भी दायरे में आएंगी। सीएम ने बताया कि जो कारें महिलाएं चला रही हों या जिन कारों में सभी महिलाएं सवार हों और महिलाओं के साथ 12 साल से कम उम्र का बच्चा जिस गाड़ी में होगा, उसे छूट दी जाएगी। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही यह निर्णय लिया गया है। इसके अलावा दिव्यांग और दोपहिया वाहनों को इस स्कीम से छूट दी गई है। बता दे कि मुख्यमंत्री ने ऑड ईवन स्कीम को एक बार फिर लागू करने की वजह ”पराली जलाने समेत कई अन्य कारणों को बताया है।

दिल्ली में एक बार फिर लागू होगा ऑड-ईवन फॉर्मूला, अरविन्द केजरीवाल का ऐलान

Image result for ODD EVEN

 पिछली बार नियम का पालन न करने पर जो जुर्माना 2 हजार रुपये था, उसे बढ़ा कर 4 हजार रुपये कर दिया गया है। बड़ी बात यह है कि इस बार सीएनजी वाहनों को भी ऑड-ईवन के दायरे में रखा गया है। हालांकि पिछली दो बार सीएनजी गाड़ियों को छूट दी गई थी।

Image result for ODD EVEN

एक बार फिर ऑड-ईवन होगा लागू, महिलाओं को मिलेगी छूट, टू-वीइलर पर अभी विचार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि, ‘ऑड-ईवन सुबह आठ बजे से लेकर रात आठ बजे तक ही लागू होगा। रविवार को लोगों को इससे राहत मिलेगी।’ राजधानी में ऑड ईवन के दौरान राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, सीजेआई, लोकसभा स्पीकर, केंद्रीय मंत्रियों, राज्यसभा और लोकसभा में नेता विपक्ष, मुख्यमंत्रियों आदि की गाड़ियों को छूट मिलेगी। हालांकि, दिल्ली के मुख्यमंत्री और मंत्रियों को छूट नहीं मिलेगी। बता दे पिछली बार वाहनों को छूट के लिए सीएनजी स्टीकरों को काला बाजार में बेचा गया और कुछ लोगों ने इस योजना से बचने के लिए स्टीकरों का दुरुपयोग किया था। इस तरह से सम-विषम के उद्देश्य को एक बड़ा धक्का लगा था।