वक़्त कितना भी क्यों न बदल गया हो लेकिन HIV को आज भी ख़तरनाक बीमारी माना जाता है। Indian Institute of Science (IISC) में अनुसंधानकर्ताओं ने कृत्रिम एंजाइम (Synthetic Enzymes) विकसित किया है। यह प्रतिरक्षी कोशिका में HIV को सक्रिय होने से सफलतापूर्वक रोक सकता है। IISC ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि वेनाडियम पेटोक्साइड नैनोशीट्स से बने ये Nano Enzyme Natural Enzyme Glutathione Peroxidase  की तरह काम करते हैं।

यह वाहक की कोशिका में ऑक्सीडेटिव का दबाव स्तर घटाते हैं और Virus की रोकथाम के लिए यह जरूरी है। यह अध्ययन इंबो मॉलिक्यूलर मेडिसीन में प्रकाशित हुआ है। एसोसिएट प्रोफेसर अमित सिंह And inorganic and physical chemistry में प्रोफेसर गोविंदसामी मुगेश ने यह अध्ययन किया है।

Corona की गिरफ़्त में आया महाराष्ट्र, Lockdown लगने के बन रहे हैं आसार

मुगेश ने कहा कि फायदा यह है कि Biological systems में Nanozyme Stable रहते हैं और कोशिका (Cell) के भीतर किसी प्रकार की अवांछित प्रतिक्रिया नहीं करते। बयान के मुताबिक, फिलहाल किसी मरीज के शरीर से Human immunodeficiency virus (HIV) को पूरी तरह खत्म करने का कोई उपाय नहीं है।

HIV रोधी औषधि केवल Virus का असर कम कर सकते हैं, लेकिन संक्रमित कोशिका (Infected Cells) से HIV नष्ट नहीं हो पाता। प्रतिरक्षा कोशिका (Immune cell) के भीतर Virus सुरक्षित स्थान पर कायम रहता है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है