पहले Corona virus का ख़तरा उसके बाद आए दिन इसके नए नए वेरिएंट सामने आ रहे हैं। यही वजह है कि Corona के नए रूप दुनिया के लिए चुनौती बने हुए हैं। मगर इस बीच एक अच्छी खबर भी है। वैज्ञानिक ऐसी ‘सुपर वैक्सीन’ तैयार करने के करीब हैं, जो Corona के कारण पैदा होने वाली भविष्य की सभी महामारियों से बचा सकती है।
इस टीके का चूहों पर सफल ट्रायल किया जा चुका है। बता दें कि टीके को अमेरिका की नॉर्थ कैरोलिना यूनिवर्सिटी ने तैयार किया है। यूनिवर्सिटी के अध्ययन को साइंस जर्नल में प्रकाशित किया गया है। इसमें वैज्ञानिकों की इस खोज को दूसरी पीढ़ी का टीका बताया गया है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, यह टीका न सिर्फ कोविड-19 बल्कि Corona virus फैमिली के सभी खतरनाक वायरस से लड़ने में मदद करता है। जिन चूहों पर इसका परीक्षण किया गया, वे सार्स-कोव और Corona के दूसरे वेरिएंट से पीड़ित थे। वैज्ञानिकों ने अगले साल तक इंसानों पर इसके परीक्षण की उम्मीद जताई है।

जानें, क्या है स्पाइक प्रोटीन

Corona virus की बाहरी सतह पर कांटों की तरह दिखने वाला जो हिस्सा होता है, वहां से वायरस प्रोटीन निकलता है। इसे स्पाइक प्रोटीन कहते हैं। इसी प्रोटीन से संक्रमण शुरू होता है। यह इंसान के एंजाइम एसीई2 रिसेप्टर से जुड़ फेफड़ों में पहुंचता है। फिर संख्या बढ़ाकर संक्रमण को बढ़ाता है। यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का मानना है कि Corona virus का कोई भी नया रूप भविष्य में नई महामारी को जन्म दे सकता है। इस तरह के खतरे को रोकने के लिए ही उन्होंने इस टीके बनाया है। चूहों पर किए गए परीक्षण में टीके ने कई ऐसी एंटीबॉडी बनाई हैं, जो स्पाइक प्रोटीन के खिलाफ भी कारगर हैं। साउथ अफ्रीका में मिले बी.1.351 वैरिएंट पर भी इस टीके ने काफी प्रभावी असर दिखाया है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है