जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद वहां इंटरनेट बंद होने के फैसले की नीति आयोग के सदस्य VK Saraswat (वीके सारस्वत) ने सही बताते हुए एक विवादित बयान दिया है।

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद वहां इंटरनेट बंद होने के फैसले की नीति आयोग के सदस्य वीके सारस्वत ने सही बताते हुए एक विवादित बयान दिया है। वीके सारस्वत का कहना है कि जम्मू कश्मीर में इंटरनेट सेवा का प्रयोग गंदी फिल्में देखने में किया जाता है। जिसके बाद सियासत में भूचाल आना शुरू हो गया। हालांकि उन्होंने कुछ देर बाद अपने बयान पर सफाई भी दी।

Indira Jaisingh पर क्यों भड़के ये नेता, कानून बदलने की मांग की

वीके सारस्वत ने बाद में सफाई देते हुए कहा कि इलाके में इंटरनेट बंद होने से अर्थव्यवस्था पर कोई असर नहीं पड़ेगा। एक कार्यक्रम को दौरान मीडिया ने उनसे सवाल किया कि कश्मीर में इंटरनेट सेवा क्यों बंद है, जबकि इंटरनेट का देश के विकास में अहम भूमिका होती है। इस पर नीति आयोग के सदस्य वीके सारस्वत ने कहा कि इंटरनेट ना होने से कश्मीर में कोई फर्क नहीं पड़ता है। वहां इंटरनेट पर कुछ नहीं किया जाता। इंटरनेट पर वहां गंदी फिल्में देखने के आलावा कुछ नहीं होता।

जेपी नड्डा बने BJP के अध्यक्ष, जानें उनके बारें में बड़ी बातें

Image result for नीति आयोग के सदस्य ने दिया विवादित बयान,

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कश्मीर के दो जिलों बांदीपोरा और कुपवाड़ा में शनिवार से 2जी मोबाइल सेवा शुरू हो गई है। वहीं कश्मीर के सभी जिलों में 2जी मोबाइल सेवा शुरू कर दी गई। इसी के साथ यहां 153 वेबसाइटें ही काम कर रही है। सोशल मीडिया पर अभी भी इलाके में पाबंदी है।

बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में आतंकवादी घुसने की कोशिश कर रहे हैं। जिस वजह से सराकर ने सुरक्षा के मद्देनजर इंटरनेट सेवा को कुछ ही इलाकों में शुरू किया है।