भारत की जेल से भागे आतंकी मसूद अज़हर का अनुच्छेद 370 पर बड़ा बयान, कहा कश्मीर में…

0
2328
भारत की जेल से भागे आतंकी मसूद अजहर का अनुच्छेद 370 पर बड़ा बयान

पाकिस्तान से भी अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर विरोध देखने को मिला है। यहां तक कि पाकिस्तान ने भारत से सारे व्यापारिक सम्बन्धों पर विराम लगा दिया है।

मोदी सरकार के कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने को लेकर बवाल मचा हुआ है। बीजेपी पार्टी और देश की जनता में खुशी की लहर है तो वही कुछ विपक्षी पार्टी और अलगाववादी नेताओं ने इसका जमकर विरोध किया है। पाकिस्तान से भी अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर विरोध देखने को मिला है। यहां तक कि पाकिस्तान ने भारत से सारे व्यापारिक सम्बन्धों पर विराम लगा दिया है।

चीन ने UNSC में मसूद अजहर को ब्लैकलिस्ट करने के संदर्भ में US को दावा किया

अचानक ही जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद जम्मू कश्मीर का माहौल बिलकुल बिगड़ सा गया था इसीलिए जम्मू कश्मीर में धारा 144 लागू कर दी गई थी। साथ ही सुरक्षा को बढ़ाते हुए 45000 सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया था। इसी बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की तस्वीरें भी सामने आई थीं जिसमें वह स्थानीय लोगों के साथ खाना खाते दिखायी दे रहे थे। माना जा रहा है कि सरकार की ओर से यह संदेश देने की कोशिश की गई कि राज्य में अब हालात सामान्य हो रहे हैं।

भारत की जेल से भागे आतंकी मसूद अजहर का अनुच्छेद 370 पर बड़ा बयान

जानिए मात्र इतने रुपये खर्च कर आप कश्मीर की खूबसूरत घाटी में प्लॉट खरीदकर रह सकते है, अनुच्छेद 370 के बाद!

जैसे ही समय बीतता गया कश्मीर के माहौल में बदलाव आता चला गया। कश्मीर के हालात अब बेहतर दिखाई पड़ रहे हैं। जिसको देखते हुए जम्मू से धारा 144 हटा ली गई। जम्मू के सभी स्कूल कॉलेज खोल दिए गए हैं और जुमे की नमाज के लिए प्रशासन ने नरमी दिखाई है।

मसूद अजहर के वैश्विक आतंकी घोषित होने पर कांग्रेस की हुई उल्टी गिनती शुरू

जैश-ए-मोहम्मद का सरगना आतंकी मसूद अज़हर ने भी अनुच्छेद 370 खत्म होने को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उसने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करके पीएम नरेंद्र मोदी ने कश्मीर पर अपनी हार स्वीकार कर ली है। मसूद अज़हर ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि  कश्मीर में मुस्लिमों के हित सुरक्षित नहीं हैं। वही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि भारत की इस कार्यवाही से कश्मीर का मुद्दा फिर जिंदा हो गया है।