महाराष्‍ट्र (Maharashtra) की उद्धव ठाकरे सरकार के उपमुख्यमंत्री अजित पवार (Deputy Chief Minister Ajit Pawar) और उनके विभाग के कामों की जानकारी आम जनता तक पहुंचे, इसके लिए सोशल मीडिया (social media) का इस्तेमाल करने के लिए साल 2021-2022 के लिए करीब 6 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. इसके लिए बाहरी कंपनी को ठेका देने का फैसला भी किया गया है. विपक्षी दल, भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आरोप लगाया है कि कोरोना महामारी के इस काल में जहां एक तरफ इलाज और वैक्‍सीन के लिए महाराष्‍ट्र सरकार (Government of Maharashtra) पैसों का रोना रो रही है, वहीं दूसरी तरफ एक मंत्री के प्रचार-प्रसार के लिए 6 करोड़ खर्च कर रही है?
भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्‍ता राम कदम ने एक बयान में कहा, ‘उप मुख्‍यमंत्री (Deputy Chief Minister ) के सोशल मीडिया (social media) के लिए महाराष्‍ट्र सरकार (Government of Maharashtra) 6 करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है. क्या प्राथमिकता है, सरकार के पास वैक्‍सीनेशन के लिए पैसे नहीं हैं लेकिन खुद की वाह-वाह के लिए हैं. गौरतलब है कि महाराष्‍ट्र में इस समय शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Shiv Sena chief Uddhav Thackeray) के नेतृत्‍व में महाविकास आघाड़ी सरकार सत्‍ता में है, इस सरकार में शिवसेना (Shiv Sena ) के अलावा राष्‍ट्रवादी Congress party और कांग्रेस पार्टी सहयोगी के रोल में हैं. 60 साल के उद्धव ठाकरे के नेतृत्‍व में यह सरकार ने नवंबर, 2019 से सत्‍ता पर है.

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है