वक़्त कितना ही क्यों ना बदल गया हो लेकीन लोगों की सोच आज भी नही बदली है। ऐसे में समलैंगिकता को सम्मान और समलैंगिकों के अधिकार के लिए हर साल जून में LGBT प्राइड मंथ सेलिब्रेट किया जाता है। गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष Rahul Gandhi ने भी इसको लेकर शुभकामनाएं दीं।

Rahul Gandhi ने अपने इंस्टाग्राम पर रेनबो फ्लैग शेयर करते हुए लिखा कि शांतिपूर्ण व्यक्तिगत विकल्पों का सम्मान किया जाना चाहिए, प्यार सिर्फ प्यार होता है। LGBT के समर्थक राहुल के इस पोस्ट पर जमकर प्यार बरसा रहे हैं। लोग लिख रहे हैं कि नेता ने दिल जीत लिया। एक यूजर ने लिखा ‘कम से कम कोई बड़ा नेता तो इसपर बोला, आपने इज्जत कमा ली सर’।

कहा तो ऐसा भी जा रहा है कि भारत में ये पहली बार हो रहा है कि जब कोई इतना बड़ा नेता LGBT community के पक्ष में अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिख रहा है। इधर, Rahul Gandhi के अलावा कांग्रेस ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर रेनबो फ्लैग शेयर करते हुए लिखा। ‘प्यार, प्यार होता है। सभी भारतवासियों को प्राइड मंथ की शुभकामनाएं।’ भारत में पहले दो वयस्कों के बीच आपसी सहमति से बनाए गए समलैंगिक सम्बन्धों को धारा 377 के तहत दंडनीय अपराधों की श्रेणी में रखा गया था लेकिन 6 सितंबर 2018 को, सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला जारी किया।

न्यायालय ने सर्वसम्मति से फैसला दिया कि धारा 377 असंवैधानिक है क्योंकि यह स्वायत्तता, अंतरंगता और पहचान के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करता है। इस दिन भारत में समलैंगिकता को वैधता प्रदान की गई।
28 जून, 1969 में LGBT Community के मेंबर्स पुलिस के खिलाफ हुए एकजुट हुए थे। जून वह महीना है जब दुनिया भर में हजारों लोग LGBTQ Community के सपोर्ट में एक साथ आगे आए थे। यही वजह है कि हर साल जून में LGBT Pride Month Celebrate किया जाता है

यह भी पढ़ें: देश में बच्चों को भी लगेगी फाइज़र की वैक्सीन-Dr. Guleria

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है