तेलंगाना में प्रवासी मजदूर घर जाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतर आए। करीब 2400 की संख्या में मजदूरों ने प्रदर्शन किया।

कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए देशभर में लॉकाडन जारी है। ऐसे में लोग जहां तहां फंसे हैं। दिल्ली, मुंबई के बाद अब तेलंगाना में प्रवासी मजदूर घर जाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतर आए। करीब 2400 की संख्या में मजदूरों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई। इतना ही नहीं मजदूरों ने पुलिस पर भी पथराव किया।

लॉकडाउन: पश्चिम बंगाल में पुलिस टीम पर हमले के बाद पक्ष-विपक्ष के बीच जुबानी…

बताया जा रहा है कि बुधवार को हैदराबाद आईआईटी में एक कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने वाले मजदूर घर जाने की मांग करते हुए प्रदर्शन करने लगे। संगारेड्डी रुरल इलाके की पुलिस के मुताबिक मजदूर प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान जब पुलिस ने इन्हें समझाने की कोशिश की तो कुछ मजदूरों ने पुलिस पर हमला कर दिया। मजदूरों ने पथराव करना शुरू कर दिया। मजदूरों के हमले में एक जवान घायल हुआ, जिसका इलाज अस्पताल में कराया गया। इसी के साथ पुलिस की गाड़ी को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

लॉकडाउन: घर जाने की मांग को लेकर तेलंगाना में जुटे प्रवासी मजदूरों ने पुलिस पर किया हमला

कोरोना संदिग्ध रेलकर्मी ने क्वारंटाइन सेंटर में फांसी लगाकर की आत्महत्या

बता दें, इससे पहले भी काफी संख्या में प्रवासी मजदूर देश के कई राज्यों में सड़कों पर उतर चुके हैं। हाल ही में मुंबई के बांद्रा इलाके में मजदूर इकट्ठा हुए थे। ये सभी ट्रेन चलने की अफवाह के चलते इकट्ठा हुए थे। जिसके बाद पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद इन्हें वहां से भगाया। दिल्ली में भी यही स्थिति देखने को मिली थी। ये लोग दिल्ली यूपी बॉर्डर पर घर जाने के लिए जुटे थे। वहीं गुजरात के सूरत में भी ऐसा ही दृष्य देखने को मिला था।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है