वक़्त बदलता है लोग बदलते हैं लेकिन मां का प्यार अपने बच्चों के लिए कभी नहीं बदलता हालांकि आज कल के बेटे ज़रूर कलयुगी बन गए हैं। मां ने जिस बेटे को कोख में नौ माह रखकर खून से सींचा और बुढ़ापे का सहारा माना, उसी ने बूढ़ी मां को सड़कों पर लावारिस छोड़ दिया। शुक्र रहा कि Meerut Police को बूढ़ी मां मिल गई और पांच घंटे मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी बेटे का पता खोज निकाला। Police ने बेटे को बुलाया और इसके बाद Police jeep में ही बूढ़ी मां को घर छुड़वाया। युवक को हिदायत दी कि रोजाना मां की सेल्फी Police को भेजेगा। कोई अनहोनी हुई या दोबारा ऐसी हरकत हुई तो Police अपनी ओर से मुकदमा दर्ज कर देगी।

जानें पूरा मामला

संभल के ढवारसी निवासी ओमप्रकाश सक्सेना सेल-टैक्स विभाग में क्लर्क थे। उनकी मौत के बाद पत्नी सत्यवती देवी को पेंशन मिलती है। बेटा मनोज सक्सेना यहां मेरठ में जॉब करता है। मां सत्यवती देवी बेटे के पास ही थी। नौचंदी इंस्पेक्टर प्रेमचंद शर्मा ने बताया कि बेटे मनोज ने मंगलवार दोपहर के समय अपनी मां सत्यवती देवी को सोहराब गेट बस अड्डे पर लावारिस छोड़ दिया था। शाम के समय Police को बुजुर्ग महिला के बारे में कुछ स्थानीय कर्मियों की ओर से सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची। आसपास के कुछ सीसीटीवी की मदद से छानबीन शुरू की कई। महिला से बातचीत की गई, लेकिन कुछ खास पता नहीं चल सका। सत्यवती देवी के पास से Corona Vaccine लगाए जाने का एक कार्ड मिल गया। इसी पर उनका नाम और आयु के साथ पता भी दर्ज था। इसके बाद Police ने छानबीन शुरू की।

इंस्पेक्टर प्रेमचंद शर्मा ने बताया कि Vaccination card के ऊपर जो मोबाइल नंबर दर्ज था, Police ने उस नंबर पर बात की। दूसरी ओर से मनोज ने फोन उठाया। सवाल किया कि मां को लावारिस क्यों छोड़कर गए और मौके पर बुलाया गया। मनोज ने कुछ समय में पहुंचने की बात कही और इसके बाद Mobile number switch off कर लिया। इसके बाद Police ने कार्ड पर दर्ज पते बी-19 रामापुरम शास्त्रीनगर में फैंटम भेजी। यहां पता चला कि पूर्व में मनोज यहां पर रहता था। मनोज के पूर्व मकान मालिक ने रात को Police के साथ अपने बेटे को भेजा और मनोज के प्रवेश विहार स्थित मकान का पता निकाला गया। इसके बाद Police ने मनोज को घर पर ही पकड़ लिया। अजय साहनी, SSP Meerut ने बतााया कि Police को एक बुजुर्ग महिला लावारिस मिली थी। थाना Police ने महिला के परिजनों का पता काफी मशक्कत के बाद खोज निकाला। बेटे ने ही मां को लावारिस छोड़ा था। बेटे को चेतावनी दी गई है। अम्मा को फिलहाल घर भिजवाया गया है। यदि अम्मा परेशान हुई और उन्होंने शिकायत की तो बेटे-बहू पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेज देंगे।

यह भी पढ़ें: Corona virus :देश में कोरोना का कहर जारी,पिछले 24 घंटे में 3,847 कोरोना संक्रमितों की हुई मौत

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है