खेल दुनिया के जाने माने नाम Sushil Kumar को कौन नहीं जनता है लेकिन ये कामयाब नाम इन दिनों बदनाम हो गया है। Sushil Kumar को पद्मश्री, राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार और अर्जुन पुरस्कार मिल चुके हैं। कुछ लोग इन सम्मान को वापस लेने की मांग कर रहे हैं, क्योंकि Sushil को हत्या के मामले में आरोपी घोषित किया गया है और उनकी गिरफ्तारी हो चुकी है, लेकिन खेल मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि जब तक कोई अदालत से दोषी नहीं ठहराया जाता तब तक अवॉर्ड वापस नहीं लिए जा सकते।

ब्लैक, वाइट के बाद अब Yellow Fungus आया सामने

भारतीय कुश्ती महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर पहले ही कह चुके हैं कि इस प्रकरण से कुश्ती की छवि खराब हुई है। Sushil स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसजीएफआइ) का अध्यक्ष भी है। हालांकि, अभी खेल मंत्रालय ने हालिया चुनावों को मान्यता नहीं दी है। सुशील के फंसने के बाद अब उसकी संभावनाएं भी नगण्य हो गई है।
Sushil कुश्ती में भारत का एकमात्र विश्व चैंपियन और राष्ट्रमंडल खेलों के तीन बार का स्वर्ण पदक विजेता है। 1998 में उन्होंने जब विश्व कैडेट गेम्स में स्वर्ण पदक जीता तो फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप, एशियन चैंपियनशिप, एशियन गेम्स, कॉमनवेल्थ गेम्स, विश्व चैंपियनशिप और ओलंपिक ये बड़े टूर्नामेंट हैं जहां सुशील ने पदक जीते हैं। बस एशियन गेम्स और ओलंपिक ही ऐसे खेल हैं जहां वह स्वर्ण पदक नहीं जीत पाए।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है