सूर्य को सिंह राशि का मालिकपन प्राप्त है। सूर्य के एक राशि से दूसरी में प्रवेश करने को ही संक्रांति कहते हैं। जब सूर्य मकर राशि में जाता है तब इसे मकर संक्रांति कहते हैं।

लोहड़ी के बाद मकर संक्रांति का दिन आने वाला है। तो इस बार सूर्य, मकर राशि में 14 जनवरी की आधी रात 02 बज के 07 मिनट में प्रवेश करेगा। वहीं सूर्य देवता को नवग्रहों का राजा कहा जाता है। यह पिता और सरकारी नौकरी का कारक माना जाता है। सूर्य को सिंह राशि का मालिकपन प्राप्त है। सूर्य के एक राशि से दूसरी में प्रवेश करने को ही संक्रांति कहते हैं। जब सूर्य मकर राशि में जाता है तब इसे मकर संक्रांति कहते हैं। तो इस दिन को कई जगह पर खिचड़ी भी कहा जाता हैं। वही इस राशियों में भी सूर्य का प्रभाव देखने को मिलता है।

Image result for सूर्य के एक राशि से दूसरी में प्रवेश करने को ही संक्रांति कहते हैं।

तो जानिए सूर्य का राशि में परिवर्तन किन राशियों को लोगों का भाग्य चमकाने वाली है-

तो अगर सबसे पहले बात करे मेष राशि की तो

मेष राशि में सूर्य आपके पाचंवे भाव का मालिक है। और इसका गोचर मेष राशि वालों दसवें भाव में होगा। इस में आपको अपके कामों में सफलता मिलेंगी। और साथ ही सूर्य की दृष्ति भी आपके ऊपर बनी रहेगी। अगर आप नौकरी करते हैं तो आपको अच्छे पद की प्राप्ति हो सकती है. और आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा बस थोड़ा ध्यान रखने की जरूरत है।

तो अगर अब बात करे वृषभ राशि की तो

Related image

वृषभ राशि में सूर्य आपके पाचंवे भाव का मालिक है। और इसका गोचर मेष राशि वालों नोंवे भाव में होगा। इस दौरान आपके परिवार और पिताजी का स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है। इसी दौरान आपकी कमाई में भी थोड़ी कमी आ सकती है। साथ ही वृषभ राशि वाले मानसिक रूप से काफी अशांत रह सकते हैं।

तो अगर अब बात करे मिथुन राशि की तो

मिथुन राशि में सूर्य आपके तीसरे भाव का मालिक है। और इसका गोचर मेष राशि वालों आठवें भाव में होगा। इस दौरान आपके पुराने बाते खुलकर सामने आ सकती हैं. आपका अपने शत्रुओं के साथ लड़ाई हो सकती है और साथ ही  शारीरिक तौर से परेशान हो सकते है। लोगों आपकी निंदा कर सकते है।

तो अगर अब बात करे कर्क राशि की तो

कर्क राशि में सूर्य आपके दूसरे भाव का मालिक है। और इसका गोचर कर्क राशि वालों सांतवे भाव में होगा। आपको अच्छे पद की प्राप्ति हो सकती है। इस दौरान आपको धन संबंधी कोई परेशानी नहीं आएगी।