Coronavirus का ख़तरा कम होते ही UP राज्य निर्वाचन आयोग ने जुलाई के पहले हफ्ते में जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के चुनाव एक साथ करवाने की तैयारी शुरू की है। आयोग ने यह तैयारी प्रदेश के पंचायतीराज विभाग के उस पत्र के आधार पर शुरू की है, जिसमें कहा गया है कि चूंकि जिला पंचायत अध्यक्ष के खाली पदों पर तैनात किए गए प्रशासकों का छह महीने का कार्यकाल 13 जुलाई को खत्म हो रहा है और इन प्रशासकों का कार्यकाल आगे और बढ़ाने के लिए कोई प्रावधान नहीं है इसलिए जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव 12 जुलाई से पहले करवा लिए जाएं।

बता दें कि जिला पंचायत अध्यक्ष के कुल 75 पद हैं। इन पदों पर कुल 3050 चुने हुए जिला पंचायत सदस्य अपने में से ही किसी एक को अध्यक्ष चुनेंगे। अप्रत्यक्ष चुनाव होने के बावजूद इन पदों के लिए राजनीतिक दलों की में जबर्दस्त रस्साकशी चल रही है। इसी तरह ब्लॉक प्रमुख के कुल 826 पदों के लिए कुल 75852 चुने हुए क्षेत्र पंचायत सदस्य अपने बीच में से किसी एक को ब्लॉक प्रमुख चुनेंगे। इस चुनाव के लिए भी राजनीतिक दलों में होड़ मची हुई है।

आयोग के सूत्रों से यह जानकारी मिली है कि ब्लॉक प्रमुख के रिक्त पदों पर तैनात प्रशासकों का कार्यकाल 17 सितंबर को खत्म हो रहा है। मगर आयोग जिला पंचायत अध्यक्ष के साथ ही ब्लॉक प्रमुख के चुनाव करवाने की तैयारी कर रहा है। अभी ग्राम पंचायतों में प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य आदि के रिक्त पदों पर उपचुनाव की प्रक्रिया चल रही है और 12 जून को इस उपचुनाव का मतदान होना है और 14 जून को मतगणना होनी है इसलिए उपचुनाव की यह प्रक्रिया पूरी होने के तत्काल बाद जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुख के पदों के लिए चुनाव प्रक्रिया शुरू करवा दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: Kannauj :लाखों रुपए का गबन करने वाले आरोपी संजय शाक्य के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है