‘टूलकिट’ मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को छत्तीसगढ़ पुलिस ने तलब किया है उन्हें 23 मई को रायपुर के सिविल लाइन थाने में आने के लिए कहा है। NSUI ने रायपुर में टूलकिट मामले को लेकर छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ केस दर्ज कराई थी।
AICC रिसर्च डिपार्टमेंट लेटरहेड पर जानबूझकर झूठा लिखने का आरोप लगाया गया है NSUI के तरफ से। छत्तीसगढ़ के पुलिस-प्रशासन ने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को थाने में आने या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उपस्थित रहने के लिए कहा है और अगर नहीं आए तो संबित पात्रा के खिलाफ कार्रवाई की जाएंगी

ब्लैक फंगस का कहर जारी, देश में अब तक 9,000 केस दर्ज

NSUI के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने शिकायत सिविल लाइंस थाने में दर्ज करवाया, ‘फर्जी न्यूज फैलाने’ का मामला दर्ज किया गया था। NSUI के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी नेताओं ने नकली लेटरहेड का उपयोग करके मनगढ़ंत कंटेंट पोस्ट किया. NSUI के प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि इस गलत कंटेंट को फैलाने का भारतीय जनता पार्टी का एक ही लक्ष्य है कि कोविड-19 के दौरान देश की जनता की मदद करने में केंद्र की भारी विफलता से जनता का ध्यान हटाना था।
इसी कड़ी में राज्य में भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि FIR दर्ज कराकर कांग्रेस पार्टी अपना चेहरा बचाने की तमाम कोशिश कर ले फिर भी नहीं चलेगा। वहीं B J P के वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि विपक्षी ने कथित तौर पर पीएम मोदी और भारत को बदनाम करने के मकसद से ये टूलकिट बनाया है

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है