सड़क पर वाहन चलाने वाले को Traffic rules का पालन करना ज़रूरी होता है। आप भी अगर Helmet पहनते हैं तो ये ख़बर जान लेना आपके लिए ज़रूरी है। देश में Helmet को लेकर एक नया नियम 1 जून, 2021 से लागू हो गया है। इसके तहत पूरे देश में बिना-ISI मार्क वाले Helmet के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है।

एक जून, 2021 से दोपहिया वाहन चालकों और सवारों के लिए ISI मानक वाला Helmet अनिवार्य कर दिया गया है। यह Helmet BIS (ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड) सर्टिफाइड होना चाहिए। अगर कोई भी दोपहिया वाहन चालक या सवार प्रतिबंधित Helmet का इस्तेमाल करता पकड़ा जाएगा तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बिना-आईएसआई मार्क वाले Helmet को बैन करने का उद्देश्य सड़क किनारे विक्रेताओं द्वारा आमतौर पर बेचे जाने वाले नकली और घटिया Helmet की बिक्री को रोकना है। घटिया क्वालिटी वाले Helmet वाहन चालकों को कम सुरक्षा प्रदान करते हैं और सड़क दुर्घटना की स्थिति में चालक या सवार को सिर में लगने वाली गंभीर चोट से बचाने में मदद नहीं करते।

जानें, क्या है नया नियम

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) द्वारा 26 नवंबर, 2020 को जारी अधिसूचना ‘दोपहिया मोटर वाहन सवारों के लिए Helmet (गुणवत्ता नियंत्रण) आदेश, 2020’ में कहा गया है कि सभी दोपहिया वाहनों में इस्तेमाल किए जाने वाले Helmet भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा प्रमाणित होने चाहिए और एक जून 2021 से उन पर भारतीय मानक (आईएसआई) का चिह्न अनिवार्य होगा।”

इस नियम में खास बात ये है कि प्रतिबंधित Helmet का सिर्फ उपयोग करने वालों पर ही नहीं, इन्हें बनाने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी। कोई भी व्यक्ति जो बिना ISI मानक Helmet का निर्माण, भंडारण, बिक्री या आयात करता है, उसे एक साल तक की कैद या न्यूनतम एक लाख रुपए का जुर्माना हो सकता है जो कि पांच लाख रुपए तक बढ़ाया भी जा सकता है। इसके अलावा, देश में केवल BIS/ISI प्रमाणन वाले Helmet बेचने की अनुमति होगी।

यह भी पढ़ें: जानें, UP में देर रात IAS अफसरों, DM और एसीएस के क्यों कर दिए गए तबादले

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है