पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हुए हमले के बाद भारत में विरोध प्रदर्शन का दौर लगातार जारी है।

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हुए हमले के बाद भारत में विरोध प्रदर्शन का दौर लगातार जारी है। सिख समुदाय के लोग सड़कों पर उतरकर इस हमले को लेकर गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। शनिवार को दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी और अकाली दल पाकिस्तानी दूतावास के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

क्या CAA पर BJP के डोर-टू-डोर कैंपेन से देश में कुछ बदलेगा…

Image result for पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हुए हमले के बाद भारत में विरोध प्रदर्शन का दौर लगातार जारी है।

आपको बता दें, शुक्रवार को ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर भीड़ ने पथराव कर दिया। वहीं कुछ सिख श्रद्धालु गुरुद्वारा ननकाना साहिब में फंस गए थे। इसना ही नहीं भीड़ ने गुरुद्वारा का नाम बदलने और सिखों को वहां से भगाने के नारे भी लगाए। यहां हालात इतने खराब हैं कि पहली बार गुरुद्वारा जन्म स्थान ननकाना साहिब में भजन-कीर्तन को रद्द करना पड़ा है।

Image result for पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हुए हमले के बाद भारत में विरोध प्रदर्शन का दौर लगातार जारी है।

सिख लड़की को अगवा करने वाले मोहम्मद हसन का भाई भीड़ की अगुवाई कर रहा था। मोहम्मद हसन वही है जिसने सिख लड़की का धर्म परिवर्तन कराया और उससे शादी की। सिखों के लिए महत्वपूर्ण पवित्र स्थलों में से एक है।

ननकाना साहिब सिख समुदाय के लिए है खास

ननकाना साहिब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में है। यह लाहौर से करीब 80 किमी दूर स्थित है। कहा जाता है कि यहां 550 वर्ष पहले सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक जी का जन्म हुआ था। बताया जाता है कि पहली बार उन्होंने यही उपदेश दिए था। जिस वजह से सिखों के लिए यह सबसे पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक है। यह बहुत भव्य और आकर्षक है, यहां हर साल कई हजार श्रद्धालु मत्था टेकने आते हैं। ननकाना साहिब में गुरुद्वारा जन्मस्थान सहित 9 गुरुद्वारे हैं। ननकाना साहिब में करीब 18,750 एकड़ जमीन पर गुरुद्वारे है।

कोटा में बच्चों की मौत पर बवाल, जरा अस्पताल का भी हाल जान लीजिए…