यूं तो अवध की होली काफी मशहूर है। यूपी के रायबरेली मे मनाई जाने वाली होली का भी अंदाज बेहद खास है। यहां पहले तीन दिन शोक मनाया जाता है। इसके बाद होली का जश्न मनता है। होली के दिन जिले के डलमऊ तहसील क्षेत्र के 28 गांवों में इस दिन शोक मनाया जाएगा। कारण, यहां के राजा रहे डलदेव होली पर ही वीरगति को प्राप्त हुए थे। इसलिए यहां के लोग तीन दिन शोक मनाने के बाद दो अप्रैल को रंगों से सराबोर होंगे।

Holi पर एक दूसरे के प्यार में डूबे दिखे राहुल वैद्य और दिशा परमार

शोक के पीछे की कहानी: 1421 ईसवीं में डलमऊ के राजा डलदेव नए संवत्सर के आगमन का जश्न मना रहे थे। इसी दौरान जौनपुर के राजा शाहशर्की की सेना ने किले पर आक्रमण कर दिया। राजा डल अपने साथ मात्र दो सौ सैनिक लेकर युद्ध के मैदान में कूद पड़े। शाहशर्की की सेना से युद्ध करते समय पखरौली गांव के निकट होली के दिन राजा वीरगति को प्राप्त हो गए। इस युद्ध में राजा डल के दो सौ और शाहशर्की के दो हजार सैनिक मारे गए थे। इस ऐतिहासिक घटना को सदियां गुजर गईं, मगर आज भी क्षेत्र के 28 गांवों के लोगों के मन में इसकी यादें ङ्क्षजदा हैं। तभी ये तीन दिन शोक मनाने के बाद रंग, गुलाल खेलते हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है