नई गाइडलाइंस में पेंट पिंगमेंट के आयात के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा जरूरी

शहद में मिलावट होना ये आम सी बात लगती है लेकिन अब केंद्र सरकार जल्द ही ऐसे नए नियम कानून बनाने जा रही है जिससे शहद में होने वाले मिलावटी पदार्थों के देश में आयात पर लगाम लग सके। सूत्रों के जरिए मिली जानकारी के मुताबिक वाणिज्य मंत्रालय फ्रक्टोज सिरप यानि शुगर सिरप को प्रतिबंधित कैटेगरी में डालते हुए इस पर ड्यूटी भी बढ़ा सकता है।

नई गाइडलाइंस में पेंट पिंगमेंट के आयात के लिए रजिस्ट्रेशन कराना भी जरूरी किया जाएगा ताकि गैरजरूरी आयात पर पाबंदी लगाई जा सके। इस बारे में एक से दो हफ्ते में नियमों को अंतिम रूप देने के बाद नई व्यवस्था से जुड़ा नोटिफिकेशन जारी किया जा सकता है।

आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल करीब 11 हजार टन फ्रक्टोज सिरप का आयात हुआ है जिसमें से अकेले चीन से इसका 70 फीसदी इम्पोर्ट किया गया। सेंटर फॉर साइंस एंड इनवायरमेंट की तरफ से शहद में मिलावट के खुलासे के बाद सरकार हरकत में आई है। जानकारी के मुताबिक पेंट-पिंगमेंट की आड़ में इस सिरप का इम्पोर्ट बड़े पैमाने पर हो रहा है जिसके चलते न सिर्फ घरेलू शहद निर्माताओं को मुश्किल उठानी पड़ती है बल्कि आत्मनिर्भर भारत अभियान को भी धक्का लग रहा है। ऐसे में सरकार इसके लिए आयात का कोटा निर्धारित करने पर विचार कर रही है। नए कदमों से पेंट कंपनियों के नाम पर आयात होने वाले फ्रक्टोज सिरप पर सख्ती हो पाएगी।

खुद प्रधानमंत्री भी जल्द ही इसके समाधान चाहते है। खादी और ग्रामोद्योग आयोग की तरफ से भी इस बारे में वाणिज्य मंत्रालय को शहद उद्योग को हो रहे नुकसान से जुड़ी रिपोर्ट दी जा रही है जिसपर अमल करते हुए नए नियम बनेंगे।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है