नया नोटिस जारी, अब Chinese Apps पर हमेशा के लिए पाबंदी लगाने की तैयारी

दुनिया भर में Chinese Apps खूब इस्तेमाल किए जाते हैं जिनमें भारत का नाम भी शामिल है। चीन के साथ सीमा विवाद के कारण करीब 7 महीने पहले Indian government ने 59 Chinese Apps को कारण बताओ नोटिस भेजा था। अब Government ने इन Apps को नया नोटिस भेजा है ताकि इन पर हमेशा के लिए पाबंदी लगाई जा सके।

Ministry of Electronics and Information Technology ने पिछले हफ्ते जारी एक बयान में कहा था कि पहले Notice पर कंपनियों की तरफ से जो जवाब आया है वह पर्याप्त नहीं है। Government अब उनपर हमेशा के लिए पाबंदी लगाने की तैयारी में है। Government ने पिछले साल जून में 59 Chinese Apps पर रोक लगाई थी। Government ने जिन कंपनियों पर रोक लगाई उनमें Tiktok, Hello App, WeChat, Alibaba की Uc browser और UC News, Sheen, Club Factory, Like, Bigo Live, Clash of Kings और Cam scanner जैसे Video शामिल है। बता दें कि Ladakh border पर India और China के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद शुरू हुए तनाव के बीच Modi government ने Chinese Apps पर बैन लगाया था। इसके बाद दोनों के बीच राजनयिक और सैन्‍य स्‍तर की कई दौर की बातचीत हुई, लेकिन Border dispute का कोई हल अब तक नहीं निकल पाया है।

विश्व का सबसे बड़ा सफेद मगरमच्छ पार्क पर्यटकों के लिए खुला

Government ने Information technology के सेक्शन 69A के तहत इन ऐप्स पर पाबंदी लगाई थी। इस मामले की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने बताया कि Government ने इन 59 Apps पर पूरी तरह पाबंदी लगाने का फैसला किया है। बता दें कि 2 सितंबर को Government ने और 118 Apps पर पाबंदी लगाई थी। इसके बाद Government ने नवंबर में और 43 Chinese Apps पर रोक लगाने का फैसला किया था। इनमें AliExpress जैसे ऐप भी शामिल थे। इसके अलावा pubg mobile snack video camcorder वीवर्कचाइना और वीडेट भी शामिल हैं। Media reports के मुताबिक, Government के बैन लगाने के बाद Alibaba की UC ब्राउजर ने भारत में अपना कामकाज बंद कर दिया है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं