देश दुनिया में Coronavirus ने आतंक मचाया हुआ है ऐसे में आज Good Friday ख़ामोशी के साथ मनाया जा रहा है। Good Friday प्रभु यीशु के वचनों को अमल करने का दिन है। इस दिन को Holy friday या Great friday भी कहा जाता है। इस दिन लोग प्रभु यीशु मसीह को याद करते हैं।

Good Friday ईस्टर संडे से ठीक पहले वाले शुक्रवार को मनाया जाता है। Holy Week के दौरान मनाए जाने वाले Good Friday पर Lord Jesus के बलिदान को याद कर उपवास रखा जाता है। बता दें कि Lord jesus, लोगों को मानवता, एकता और अहिंसा का उपदेश देकर अच्छाई की राह पर चलने के लिए प्रेरित कर रहे थे। धार्मिक अंधविश्वास करने वाले लोगों ने उन पर राजद्रोह का आरोप लगा दिया। उन्हें मौत की सजा सुनाई गई और Lord Jesus को सूली पर चढ़ा दिया गया। जिस दिन Lord Jesus को सूली पर चढ़ाया गया उस दिन को Good Friday कहा जाता है।

प्रत्याशी ने की ये गलती तो पर्चा खारिज कर देगा निर्वाचन आयोग

Lord Jesus के बलिदान की वजह से इस दिन को Good Friday कहते हैं। Good Friday के तीसरे दिन यानी Sunday को प्रभु ईसा मसीह दोबारा जीवित हो गए और 40 दिन तक लोगों के बीच उपदेश देते रहे। उनके दोबारा जीवित होने की घटना को Easter sunday के रूप में मनाया जाता है। Good Friday को चर्च में उनके जीवन के आखिरी पलों को दोहराया जाता है और लोगों की सेवा की जाती है। यह शोक का दिन है। इस दिन Church एवं घरों से सजावट की वस्तुएं हटा ली जाती हैं। लोग Lord Jesus की याद में काले वस्त्र धारण कर पदयात्रा निकालते हैं। इस दिन Church में Candle नहीं जलाई जातीं और न ही घंटियां बजाई जाती हैं। Good Friday को लोग अपने गुनाहों की माफ़ी मांगते हैं। Good Friday को Vegetarian और Satvik Food पर जोर दिया जाता है। Cross को चूमकर प्रभु ईसा मसीह को याद करते हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है