Hindi बोलने पर शर्म कैसी, वे दिन गए जब Hindi में बात करना चिंता का विषय था

0
121

Hindi और अंग्रेजी में से आज भी लोग अंग्रेजी में बात करने में अपनी शान समझते हैं वहीं Hindi में बात करने पर उन्हें ऐसा लगता है कि उनको अनपढ़ समझा जा रहा है। देश में हर साल 14 सितंबर के दिन Hindi Diwas मनाया जाता है। Hindi दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में शामिल है। Hindi Diwas के मौके पर आज ज्ञान भवन में Hindi Diwas समारोह और पुरस्कार वितरण का आयोजन किया गया जिसमें गृहमंत्री Amit Shah ने अध्यक्षता की।

इस मौके पर Hindi के बारे में बोलते हुए Amit Shah ने कहा कि अगर हमारे प्रधानमंत्री इंटरनेशल लेवल पर Hindi बोल सकते हैं तो हमें किस बात पर शर्म आती है? Amit Shah ने कहा, “आत्मनिर्भर होना केवल देश में उत्पादन करना नहीं है, हमें भाषाओं के साथ भी आत्मनिर्भर होना पड़ेगा। अगर पीएम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर Hindi बोल सकते हैं, तो हमें किस बात पर शर्म आती है? वे दिन गए जब Hindi में बात करना चिंता का विषय था।”

इसके अलावा देशवासियों को Hindi Diwas की बधाई देते हुए Amit Shah ने ट्वीट किया, “Hindi Diwas के अवसर पर मैं सभी देशवासियों से आग्रह करता हूँ कि मूल कार्यों में अपनी मातृभाषा के साथ राजभाषा हिंदी का उत्तरोत्तर प्रयोग करने का संकल्प लें। मातृभाषा व राजभाषा के समन्वय में ही भारत की प्रगति समाहित है। आप सभी को ‘Hindi Diwas’  की हार्दिक शुभकामनाएं।”

केंद्रीय गृह मंत्री Amit Shah ने एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा,  “भाषा मनोभाव व्यक्त करने का सबसे सशक्त माध्यम है। हिंदी हमारी सांस्कृतिक चेतना व राष्ट्रीय एकता का मूल आधार होने के साथ-साथ प्राचीन सभ्‍यता व आधुनिक प्रगति के बीच एक सेतु भी है। मोदी जी के नेतृत्व में हम Hindi व सभी भारतीय भाषाओं के समांतर विकास के लिए निरंतर कटिबद्ध है।”

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है