एक बार फिर से कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर बीते आठ महीनों से आंदोलन कर रहे किसान संगठन आज Delhi के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे। कई महीनों से Delhi की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसान अब हर रोज़ जंतर-मंतर पर जुटेंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा ने इसे ‘किसान संसद’ का नाम दिया है। संसद के मानसून सत्र के बीच तीन कृषि कानूनों के खिलाफ जंतर-मंतर पर किसानों के विरोध को देखते हुए सिंघू बॉर्डर पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। पूरा इलाका छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

Delhi पुलिस ने बताया कि 200 किसानों का एक समूह पुलिस की सुरक्षा के साथ बसों में सिंघू बॉर्डर से जंतर-मंतर आएगा। वहां सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक विरोध प्रदर्शन करेंगे। कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान यूनियनों का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) को इस बारे में एक शपथपत्र देने के लिए कहा गया है कि सभी Covid नियमों का पालन किया जाएगा और आंदोलन शांतिपूर्ण होगा।

किसानों को प्रदर्शन के लिए Delhi पुलिस ने कोई लिखित इजाजत नहीं दी है। हालांकि Delhi सरकार से उन्हें धरना-प्रदर्शन की औपचारिक इजाजत मिली है। इस आदेश के मुताबिक आज से लेकर 9 अगस्त तक सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक 200 प्रदर्शनकारी धरना दे सकते हैं। धरने में शामिल सभी किसानों को Corona नियमों का पालन करना होगा।

यह भी पढ़ें: Kerala में दो दिन का कंप्लीट Lockdown, जानें वजह 

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है