आज कल ज़रा सी भी तबियत बिगड़ने पर डॉक्टर फ़ौरन RT-PCR टेस्ट करवाने की सलाह दे रहे हैं। हर इंसान RT-PCR रिपोर्ट निगेटिव आने पर ख़ुश हो जाता है लेकिन आपको बता दें कि अब RT-PCR Report Negative होने पर खुश होना सही बात नहीं है दरअसल Corona का नया स्ट्रेन जांच को मात दे रहा है जिसके बाद से सभी डॉक्टर भी परेशान हो गए हैं।

डॉक्टर्स ने भी माना, जांच को मात दे रहा Corona का नया स्ट्रेन

Delhi के एक शख़्स को पिछले पांच दिनों से तेज़ बुखार, खांसी, जुकाम, बदन दर्द और डायरिया की समस्या आ ही है। Corona संक्रमण की आंशका जताते हुए उन्होंने पांच दिन बाद अपनी RT-PCR जांच कराई लेकिन रिपोर्ट निगेटिव निकली। उन्होंने एक डॉक्टर को दिखाया तो उनसे कहा गया कि Corona का नया स्ट्रेन होने की वजह से लक्षण होने के बावजूद बहुत लोगों की RT-PCR जांच निगेटिव आ रही है। ऐसे में वे खुद को घर पर ही एकांत में रखें।

डॉक्टर ने बताया कि कई ऐसे मरीज आ रहे हैं जिनमें यह रिपोर्ट निगेटिव हैं, लेकिन हालत गंभीर होने की वजह से उनका हाई रेजोल्यूशन सीटी (एचआरसीटी) किया जा रहा है। इसमें फेफड़ों में Corona के गंभीर संक्रमण की पुष्टि हो रही है।

वायरस शरीर में बदल सकता है स्थान

गलत Corona Report आने के पीछे एक आशंका यह भी है कि वायरस ने शरीर में स्थान भी बदल लिया हो। इंस्टिट्यूट ऑफ लीवर एंड बाइलियरी साइंसेज में Clinical Microbiology की प्रोफेसर डॉक्टर प्रतिभा काले ने बताया कि जिन मरीजों की रिपोर्ट गलत आ रही है, संभव है कि वायरस ने उनकी नाक और गले में अपनी जगह बनाई ही नहीं हो। इस कारण नाक या गले से लिए गए स्वैब सैंपल की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आ रही है। उन्होंने कहा कि साल बदलने के साथ ही बदले रूप वाले Corona से पाला पड़ा है जिससे निपटने में हमें मशक्कत करनी होगी।

एक लैब की वाइस प्रेसिडेंट डॉक्टर ने कहा कि ‘Coronavirus का रूप बदलने की वजह से RT-PCR जांच किट बनाने वाली कंपनियां उनमें बदलाव कर रही हैं ताकि यह नए स्ट्रेन वाले Coronavirus को भी पकड़ सके। आईसीएमआर को किट बनाने वाले लोगों से कई ऐसे प्रस्ताव मिले हैं।’

यह भी पढ़ें: Corona महामारी के साथ साथ फिर बढ़ी बेरोज़गारी, हालात होंगे और भी बुरे

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है