उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में नामांकन की प्रक्रिया के लिए जिला प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है। और नामांकन की प्रक्रिया के दौरान कोविड की गाइड लाइन का पालन कराया जा रहा है।  पुलिस की सख्ती के बावजूद भी नामांकन पत्र जमा करने आए ज्यादातर प्रत्याशी बिना मास्क के नजर आए।  साथ ही जिला मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधीक्षक ने नामांकन स्थल पहुँच व्यवस्थाओं का जायजा लिया। पंचायत चुनाव के पहले चरण में महोबा जिले में नामांकन प्रक्रिया की शुरुआत हो गई  है। नामांकन की प्रक्रिया में चारों ब्लॉकों में नामांकन करने के लिए महिला,पुरुष प्रत्याशियों की भारी भीड़ देखने को मिली हालांकि प्रशासन द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। नामांकन प्रक्रिया शासन द्वारा निर्धारित कोरोना गाइडलाइन के तहत कराई जा रही है। लेकिन नामांकन पत्र जमा करने आये ज्यादातर प्रत्यासी बिना मास्क और सामाजिक दूरी का खुला उल्लंघन करते नजर आए। जिले की 273 ग्रामसभाओं व 345 बीडीसी, 3397 ग्रामपंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य की 14 व ब्लॉक प्रमुखों की 4 सीटों के लिए नामांकन की प्रक्रिया सुबह 8 बजे से शुरू की गई है।

अब बार्डर पर होगा एंटीजन टेस्ट वरना No Entry

डीएम सत्येन्द्र कुमार एसपी अरुण कुमार श्रीवास्तव ने पुलिस और प्रशासनिक अमले के साथ नामांकन स्थल का जायजा लिया। तो वहीं नामांकन पत्र जमा करने आए प्रत्याशियों से बात की गई तो ज्यादातर प्रत्याशी देश के प्रधानमंत्री सहित,यूपी के सीएम,जिले के डीएम और एसपी का नाम तक नही बता पाए । वहीं एक रोमांचक बात ये रही की प्रधान पद का नामांकन पत्र जमा करने आई एक महिला प्रत्याशी से नामांकन पत्र जमा करने को लेकर सवाल किया गया तो उसका कहना था कि वह प्रधानमंत्री का चुनाव लड़ने के लिए नामांकन पत्र जमा करने आई है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है