देश के सबसे ज़्यादा आबादी वाले राज्य उत्तरप्रदेश में भी Corona का संक्रमण तेजी से फैलता नज़र आ रहा है। सितम्बर 2020 के बाद पहली बार 24 घंटे में  6 हज़ार से  ज़्यादा मामले उत्तर प्रदेश में सामने आए है। संक्रमण के खतरे को देखते हुवे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक हाई लेवल मीटिंग करते हुए 13 ऐसे जिलो के जिलाधिकारियों को नाईट कर्फ्यू का अधिकार दे दिया,जहां हर दिन 100 से अधिक केस मिल रहे हैं अथव कोरोना के 500 से ज़्यादा सक्रिय  केसेस हैं। सीएम के निर्देशों के आधार पर  राजधानी लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज व कानपुर में नाईट कर्फ्यू की घोषणा कर दी गई है। इन शहरों में आज रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। आवश्यक सेवाओं को प्रतिबन्ध से बाहर रखा गया है। ये प्रतिबंध अभी 16 अप्रैल तक रहेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महाराष्ट्र के साथ-साथ दक्षिण भारत के कुछ राज्यों में कोविड-19 संक्रमण की स्थिति तेजी से खराब हो रही है। वहां रहने वाले उत्तर प्रदेश के लोगों की वापसी संभावित है। पंचायत चुनाव की प्रक्रिया भी चल रही है। आने वाले दिन हमारे लिए चुनौतीपूर्ण होंगे। उन्होंने कहा कि लखनऊ‚ प्रयागराज‚ वाराणसी‚ कानपुरनगर‚ गोरखपुर‚ मेरठ‚ गौतमबुद्धनगर‚ झांसी‚ बरेली‚ गाजियाबाद‚ आगरा‚ सहारनपुर और मुरादाबाद जिले में कोविड संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। यहां केस की संख्या अधिक है। हालांकि पॉजिटिविटी दर में गिरावट हुई है। लेकिन कांटैक्ट ट्रेसिंग बढ़ाई जाए। ट्रेस करके उनका टेस्ट किया जाए और जरूरत के अनुसार ट्रीटमेंट दिया जाए। मास्क न लगाने वाले लोगों पर जुर्माना लगाया जाना चाहिए। इन सभी जनपदों में निगरानी के लिए तत्काल विशेष सचिव स्तर के अधिकारियों की तैनाती की जाए। ऐसे जिलो में  माध्यमिक विद्यालयों में अवकाश के सम्बंध में जिलाधिकारी स्थानीय समिति के अनुसार फैसला लें।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री और चिकित्सा शिक्षा मंत्री अधिकारियों के साथ प्रभावित जिलों का दौरा करेंगे। सीएम ने कहा कि वे स्वयं भी अगले कुछ दिनों में प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर जिले का औचक निरीक्षण करेंगे।

Corona की दूसरी लहर ने उत्तर प्रदेश में हालात बिगाड़ दिए हैं। UP में पिछले 24 घंटे के अंदर कोरोना के 6,024 से ज्यादा केस सामने आए हैं। 40 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में पिछले 2 दिन के अंदर 12,000 नए केस देखने को मिले हैं। लखनऊ में बुधवार को कोरोना के 1,333 नए केस मिले और 6 मौत हुईं। हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि शहर के बैकुंठ धाम इलेक्ट्रिक श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के लिए लोगों को टोकन बांटे गए और लोगों को 8 से 12 घंटे तक इंतजार करना पड़ा। इस समय प्रदेश में एक्टिव केस 31987 हैं। UP में अब तक कुल 8,964 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।यूपी में कल 1.86 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया।

नाईट कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तु को लाने ले जाने की छूट होगी। रात्रि कालीन शिफ्ट के सरकारी/अर्ध सरकारी कर्मचारियों के अलावा आवश्यक वस्तुओं /सेवाओं में काम करने वाले निजी क्षेत्र के लोगों को भी छूट होगी। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन,एयरपोर्ट पर आने जाने वाले लोग अपना टिकट दिख कर आ जा सकेंगे। इसके अलावा हर प्रकार की मालवाहक गाड़ियों के आने जाने पर कोई प्रतिबंध नही होगा।

अनूप शुक्ला

ब्यूरो चीफ (यूपी)

यह भी पढ़ें: Delhi में Night curfew से परेशान लोग, ई-पास के लिए किए गए 73 हजार आवेदन

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है