कोरोना के मामले एक बार फिर तूल पकड़ते जा रहे हैं। कोरोना वैक्सीनेशन का पहला चरण शुरु होने के बाद जो आंकड़े फरवरी के महीने में 10 से 20 हजार के बीच में सामने आ रहे थे अचानक उनमें इजाफा देखने को मिल रहा है। पिछले 24 घंटों में तो कोरोना के 81 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। बात राजधानी दिल्ली की करें तो दिल्ली में भी कोरोना के मामलों में तेजी देखने को मिल रही है। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के करीब 2800 मामले सामने आए हैं और कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। अप्रैल के महीने में दिल्ली में दिसंबर 2020 जैसे मामले सामने आने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी आपात बैठक बुलाई है।

डरा रहा है कोरोना: 8 राज्यों से सामने आए 84.61 फीसदी मामले

दरअसल दिल्ली में 8 दिसंबर 2020 को तीन हजार से ज्यादा मामले सामने आए थे और उस वक्त दिल्ली में संक्रमण की दर 3.57 फीसदी थी। दिल्ली में अभी तक कोरोना महामारी से 11 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और मौजूदा वक्त में करीब साढ़े पांच हजार लोग होम आइसोलेशन में थे। दरअसल कोरोना के मामलों में उछाल के पीछे बड़ी वजह लोगों की लापरवाही को माना जा रहा है। जानकारों की मानें तो कोरोना वैक्सीन आने और कोरोना के मामलों में गिरावट के बाद लोगों ने लापरवाही बरतना शुरु कर दिया था और लोग सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के प्रयोग को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे जिसकी वजह से कोरोना के मामलों में उछाल देखने को मिला है

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है