कोरोना ने जिन पत्रकारों की ज़िंदगी छीन ली अब सरकार उनके परिवारों की करेगी आर्थिक मदद

कोरोनावायरस ने न जाने कितने परिवार उजाड़ दिए। कोरोना काल के दौरान जब हर इंसान घर पर रहकर खुद को मेह्फूस रखने की कोशिश कर रहा था उस बीच हर वक़्त पत्रकार आपको बाहर का हाल ख़बरों के ज़रिये दे रहे थे बिना ये सोचे की उनकी जान को भी खतरा है। न जाने कितने ही पत्रकार इस वायरस की चपेट में आ गए। अब कोरोना महामारी के दौरान मारे गए पत्रकारों के लिए केंद्र सरकार आगे आई है।

मोदी सरकार ने उन सभी कार्यकारी पत्रकारों के परिवारों को आर्थिक सहायता देने का फैसला किया है जिनकी मौत कोरोना की वजह से हो गई थी। बता दें कि केंद्र सरकार के निर्देश पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने अपने अधिकारियों से कहा है कि ऐसे तमाम वर्किंग पत्रकारों की खोज कर पहचान की जाए और उनके परिजनों को एक निश्चित धनराशि सहायता के तौर पर उपलब्ध कराई जाए।

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक यह धनराशि लगभग पांच लाख रुपये हो सकती है। बता दें कि सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधिकारियों ने इस बाबत पूरे देश से उन पत्रकारों की की सूची बनानी शुरू कर दी है जिनकी कोरोना से मौत हुई है। वहीं अभी तक 30 नाम सामने आए हैं। बाकी पत्रकारों की पहचान का काम जारी है। कितना भी कुछ कर लिया जाए किसी की ज़िंदगी वापिस नहीं आ सकती है लेकिन किसी के परिवार की मदद करके सरकार एक अच्छी पहल कर रही है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है