CM योगी ने कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरूस्त बनाए रखने के दिए निर्देश

कोरोना के नए स्वरूप को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के उपचार एवं बचाव की प्रभावी व्यवस्था को बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रति हर स्तर पर पूरी सतर्कता व सावधानी बरती जाए।

लोक भवन में एक उच्चस्तरीय बैठक में सीएम ने कहा कि 25 नवम्बर से 8 दिसम्बर के दौरान वायरस के नए स्वरूप से सम्बन्धित देशों से प्रदेश में आए लोगों के प्रभावी आइसोलेशन और लक्षण के आधार पर टेस्टिंग की व्यवस्था की जाए। इन देशों से 9 दिसम्बर के बाद आए लोगों की अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर विधि से टेस्टिंग की जाए।

मुख्यमंत्री ने कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरूस्त बनाए रखने के निर्देश दिए हैं उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ चिकित्सक कोविड वार्ड में नियमित राउंड लें। अस्पतालों में दवाओं, मेडिकल उपकरण तथा ऑक्सीजन की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता रहे। बता दें कि वैक्सीनेशन के सम्बन्ध में जिला स्तर पर संचालित गतिविधियों की गहन मॉनीटरिंग करते हुए वैक्सीन की स्टोरेज, कोल्ड चेन तथा ट्रांसर्पोटेशन के सम्बन्ध में सभी प्रबन्ध समय से किए जाएं। उन्होंने वैक्सीनेर्टस के प्रशिक्षण कार्य को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश द्वारा पूरे देश में कोविड-19 के सर्वाधिक संख्या में टेस्ट किए जाने पर संतोष व्यक्त करते हुए टेस्टिंग कार्य को पूरी गति से संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रति मिलियन टेस्ट के आधार पर उत्तर प्रदेश का देश में दूसरा स्थान है। उन्होंने प्रति मिलियन टेस्ट की संख्या में भी वृद्धि करने के निर्देश दिए हैं। बता दें उत्तर प्रदेश में 01 लाख टेस्ट प्रति मिलियन के आधार पर जांच की जा रही है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है