लम्बे वक़्त बाद राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव फिर से अपनी फॉर्म में आते नज़र आ रहे हैं। Lalu Yadav  ने मंगलवार को कहा कि पिछले दिनों लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) में जो कुछ भी हुआ है उसके बावजूद वह Chirag Paswan को ही एलजेपी का नेता मानते हैं। इसके साथ ही, उन्होंने कहा कि बिहार में वह तेजस्वी और Chirag Paswan को एक साथ गठबंधन में देखना चाहते हैं।

Lalu Yadav  ने कहा- मैं शरद पवार के स्वास्थ्य के बारे में जानने आया था, क्योंकि वह बीमार रहे हैं। संसद में उनकी गैर-मौजूदगी रही है। हम तीनों- मैं, शरद भाई और मुलायम सिंह कई मुद्दों को लेकर लड़ाईयां लड़ीं हैं। मुलायम सिंह यादव के साथ हमारी कल की बैठक एक शिष्टाचार भेंट थी।

पेगागस के मुद्दे पर Lalu Yadav  ने कहा- हां, इसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जो भी इसमें संलिप्त हैं, उनके नामों का प्रकाशन किया जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हम बिहार में सरकार बनाने के करीब थे। मैं जेल में था और मेरे बेटे तेजस्वी यादव ने अकेले (राज्य के सत्ताधारी गठबंधन से) मुकाबला किया। उन्हें फर्जीवाड़ा किया और हमें 10-15 वोटों के अंतर से हराया।

Delhi में मुलायम सिंह यादव और Lalu Yadav  की मुलाकात पर यूपी कैबिनेट मंत्री जय प्रताप सिंह ने निशाना साधा है। उनका कहना है कि, “इस तरह की जो पारिवारिक पार्टी है वह आपस में मिलकर परिवार की भूमिका को यथावत रखने के लिए हमेशा प्रयासरत रहती है। यह राष्ट्रीय पार्टी तो है नहीं, ये परिवार की पार्टी बनाते हैं। जाति और धर्म के आधार पर इसके कोई मायने नहीं है। परिवार को सुरक्षित रखना है, परिवार को बढ़ाना है, पैसे को सुरक्षित रखना है, इनकी कोई विचारधारा नहीं है।”

यह भी पढ़ें: जानें Sjoerd Marijne ने किस तरह भारतीय महिला हॉकी टीम को फर्श से अर्श तक पहुंचाया

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है