विधायकों के साथ बदसलूकी को लेकर महागठबंधन का Bihar Bandh आज

इंसान छोटा हो या बड़ा सम्मान पाने की ख्वाहिश सभी को होती है लेकिन जब किसी का अपमान किया जाता है तो सभी को बुरा लगता है। Bihar में विधानसभा में घुसकर पुलिसकर्मियों के विधायकों के साथ बदसलूकी को लेकर महागठबंधन ने आज Bihar Bandh का आह्वान किया है।

नेता प्रतिपक्ष Tejashwi Prasad Yadav ने आरोप लगाया है कि Bihar में विधानसभा के इतिहास में पहली बार विधायकों को पिटवाया गया। बता दें कि गुरुवार(25 मार्च) को 10, Circular Road में मीडिया से बातचीत में उन्होंने पूछा कि क्या सदन में नारेबाजी, विरोध-प्रदर्शन या आसन तक जाने की घटनाएं पहली बार हुई हैं। वर्ष 1974 में अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठ विपक्ष के समाजवादी सदस्यों ने सदन चलाया था। वर्ष 1986 में नेता प्रतिपक्ष जननायक कर्पूरीजी की अगुवाई में 3 दिन तक सदन में धरना-प्रदर्शन चला था। तब नीतीश जी भी सदन के सदस्य थे। लेकिन, विधानसभा और वेल में Police का ऐसा तांडव पहली बार हुआ।

Nepal में विदेशी पर्यटकों के लिए क्वारंटाइन नियम हटाया

उन्होंने आरोप लगाया कि दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई के बजाय उन्हें संरक्षण दिया जा रहा है। इसी रवैये से अफसरशाही बढ़ी है। तेजस्वी ने कहा कि हमारे पास 200 से अधिक पुलिसकर्मी और प्रशासनिक अधिकारियों की फ़ुटेज है। हमने सभी को चिह्नित किया है। यह भी आरोप लगाया कि Bihar Police अब JDU Police बन गई है। लेकिन वह समझ ले कि हम BJP के लोग नहीं जो Police अत्याचार को चुपचाप सह लेंगे।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है