Uttar Pradesh में भले ही प्रदेश सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरूस्त करने की लाख कोशिश कर रही हो, लेकिन हकीकत कुछ और ही दिखाई दे रही है। मामला उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले का है। यहां लापरवाह Hospital Staff ने मरीजों को बांटने के लिए आई लाखों रुपये कीमत की दवा तालाब के किनारे फेंक दी।

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले का ढोलना प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अत्यंत पिछड़े इलाकों में काफी शुमार है। गरीब लोगों को दवा बाहर से ना खरीदनी पड़े इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से उन्हें दवा मुफ्त उपलब्ध कराई जाती है, लेकिन कासगंज जिले के लापरवाह डॉक्टरों ने उन्हें गरीब मरीजों को देने के बजाय दवा को तालाब के किनारे फेंक दिया है।

वहीं, अस्पताल में लोगों को लगातार दवा बाहर से लिखे जाने की शिकायत रहती है। CMO Dr. Anil Kumar से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बीते शाम सूचना मिली थी कि ढोलना तालाब के किनारे दवा पड़ी है। इस मामले में हमने नोटिस भेजकर अस्पताल से जवाब मांगा है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके मरीजों में दिख रहे हैं अन्‍य बीमारियों के लक्षण

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है