संविधान पीठ के पांच सदस्य आज चैंबर में मिलेंगे। इस दौरान रिपोर्ट  तथा इसे सार्वजनिक करने पर चर्चा की जा सकती है।

अयोध्या विवाद पर गठित मध्यस्थता पैनल ने बुधवार को दूसरी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट मे पेश कर दी है। अहम बात यह है कि सुन्नी वक्फ बोर्ड अपना मुकदमा वापस लेने के लिए तैयार है। सूत्रों के मुताबिक, संविधान पीठ के पांच सदस्य आज यानि गरुवार को चैंबर में मिलेंगे। इस दौरान रिपोर्ट पर तथा इसे सार्वजनिक करने पर चर्चा की जा सकती है। बता दें कि मुस्लिम हिन्दु दोनों पक्ष पूजास्थल कानून-1991 के तहत समझौते के लिए तैयार हैं। इसके अंतर्गत ऐसे किसी मस्जिद या धर्मस्थल को लेकर कोई विवाद नहीं होगा जो 1947 से पूर्व मंदिर गिराकर बनाए गए हैं। हलांकि इस कानून के दायरे में अयोध्या विवाद शामिल नहीं है।

अयोध्या मामले में सुनवाई जारी, SC ने कहा- आज शाम पांच बजे तक सुनवाई खत्म

Image result for ayodhya verdict

सूत्रो के मुताबिक सुन्नी बोर्ड के अध्यक्ष ने यह प्रस्ताव दिया है कि अगर राज्य सरकार अयोध्या में मस्जिद बनाने के लिए कोई और उचित जगह दे और पुरानी मस्जिदों की मरम्त करवाए तो वह हिंदुओं को विवादित स्थल पर मंदिर बनाने की इजाजत दे सकते हैं।

Image result for ayodhya verdict

सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई को शुक्रवार तक के लिए टाला

बता दें कि सुन्नी बोर्ड इस मामले में मुस्लिम पक्षकारों का प्रतिनिधित्व कर रहा है, लेकिन छह अन्य पक्षकार भी हैं। लिहाजा अन्य पक्षकारों का रुख देखना होगा। मिली जानकारी के मुताबिक मामले में नवंबर के मध्य तक फैसला आने की उम्मीद जताई जा रही है क्योंकि सुनवाई कर रही संविधान पीठ के अध्यक्ष मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत हो रहे हैं। तो ऐसे मे ये कयास लगाए जा रहे है कि फैसला उससे पहले ही आएगा।