कई दिनों के बाद Delhi सरकार ने 1 सितंबर से स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान खोलने का फैसला किया है। केजरीवाल सरकार ने Corona के कम होते मामलों के मद्देनजर स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने का निर्णय लिया है।

पहले 1 सितंबर से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के लिए स्कूल खुलेंगे। इसके बाद 8 सितंबर से छठी से 8वीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूल बुलाया जाएगा। बच्चों के स्कूल आने के लिए उनके अभिभावकों की मंजूरी अनिवार्य होगी। विद्यार्थियों को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा।

स्कूल खोलने का निर्णय शुक्रवार को Delhi Disaster Management Authority (डीडीएमए) की बैठक में लिया गया। इससे पहले दिल्ली सरकार की एक्सपर्ट कमिटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप थी। कमिटी ने सभी क्लास के लिए स्कूल खोलने की सिफारिश की थी। कमेटी ने कहा था कि चरणबद्ध तरीके से स्कूलों को खोला जाना चाहिए।

सरकार के फैसले की जानकारी देते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘ Delhi में सावधानियों के साथ चरणबद्ध तरीके से स्कूल, कॉलेज, कोचिंग गतिविधियों को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। 1 सितंबर से सभी स्कूलों में 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं, उनकी कोचिंग कक्षाएं और सभी कॉलेजों / विश्वविद्यालयों को फिर से शुरू करने की अनुमति होगी।”

Delhi Disaster Management Authority द्वारा गठित विशेषज्ञों की एक समिति ने Delhi में चरणबद्ध तरीके से Delhi में सभी कक्षाओं के लिए स्कूलों को फिर से खोलने का सुझाव दिया। समिति ने सुझाव दिया था कि इसे स्टेपवाइज किया जाना चाहिए, जिसमें पहले हायर क्लासेस और इसके बाद छोटी क्लासेस के छात्रों के लिए स्कूल फिर से खोले जाएं। Corona-19 संक्रमित मामलों की समीक्षा के बाद, प्राइमरी के छात्रों को स्कूल बुलाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: पृथ्वी पर रहते हुए ही मंगल ग्रह में करें Job, NASA ने निकाली ख़ास नौकरी

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है