क़र्ज़ में डूबी Air India को मिलेगा टाटा ग्रुप का सहारा!

इन दिनों Air India क़र्ज़ में डूबी हुई है ऐसे में सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया को खरीदने की दौड़ में सबसे आगे Tata Sons Limited और सरकार के बीच सौदा पूरा होने में ज्यादा देरी नहीं दिखाई पड़ रही। ख़बरों के मुताबिक Tata इस माह के अंत से पहले अपनी बोली दर्ज कराएगा।

आने वाले वर्षों में बड़ी संख्या में Air India के कर्मचारी रिटायर होने वाले हैं। ऐसे में कंपनी की ओनरशिप कर्मचारियों के लिए एक संवेदनशील मुद्दा है। वे चाहते हैं कि ओनरशिप किसी को भी जाए लेकिन सरकार पेंशन से संबंधित मामलों का ध्यान रखे। बता दें कि सरकार कर्ज में डूबी Air India को बेचना चाहती है। 2007 में राज्य-संचालित Indian Airlines के साथ विलय होने के बाद Airline का सालाना प्रोफिट गिर गया।

Corona के प्रति लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई करेंगी Yogi…

Air India को टाटा ग्रुप ने ही साल 1932 में शुरू किया था। बाद में 1953 में इसे सरकार को बेच दिया गया। अब एक बार फिर Tata Group Air India को अपना बनाना चाहता है। सरकार को उम्मीद है कि Air India का विनिवेश अगले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही तक पूरा हो जाएगा। बता दें कि इस समय Air India पर 90000 करोड़ रुपये से ज्यादा का क़र्ज़ है। अनुमान है कि मौजूदा वित्त वर्ष में Air India 10000 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज करेगी। टाटा ग्रुप एयर इंडिया के लिए अपनी Bid Air Asia India के जरिए लगाने वाला है। Air Asia India में टाटा ग्रुप के पास Controlling stake है। वहीं अजय सिंह ने Middle east के Sovereign fund के साथ मिलकर Air India को खरीदने की योजना बनाई है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है