Corona संक्रमण से निजात मिलने के बाद इस बीमारी का होना भी तय

0
93

Coronavirus से पहले तो बच पाना मुश्किल है और अगर आप किसी तरह बच भी गए तो कोरोना संक्रमण सही होते ही शरीर में खून के थक्के भी जम सकते हैं। एक नए अध्ययन में कहा गया है कि खून के थक्के जमने की दुर्लभ स्थिति Cerebral vein thrombosis (CVT) का जोखिम कोविड-19 का टीका लगाने के बाद उतना नहीं है जितना वह Coronavirus से संक्रमण के बाद है।

Britain में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं के अध्ययन में कोविड-19 का पता चलने के दो हफ्ते बाद और टीके की पहली खुराक के बाद सामने आए CVT के मामलों की गिनती की गई। उन्होंने इन मामलों की तुलना इंफ्लुएंजा के बाद होने वाले CVT के मामलों और आम आबादी में इसके पहले से मौजूद स्तर से की। अनुसंधानकर्ताओं की टीम ने पाया कि किसी भी अन्य स्थिति की तुलना में Covid -19 के बाद CVT होना ज्यादा आम है, जिनमें से 30 प्रतिशत मामले 30 वर्ष से कम उम्र के लोगों में देखने को मिले। उन्होंने कहा कि Covid-19 के मौजूदा टीकों से तुलना करने पर यह जोखिम आठ से 10 गुना ज्यादा बढ़ जाता है और बिना टीकों के यह करीब 100 गुना ज्यादा है।

University of Oxford के ट्रांसलेशनल न्यूरोबायोलॉजी ग्रुप के प्रमुख पॉल हैरिसन ने कहा कि टीकों और CVT के बीच संभावित संबंधों को लेकर चिंताएं हैं जिससे सरकारों और नियामकों को कुछ टीकों के इस्तेमाल को सीमित करना पड़ रहा है। हैरिसन ने कहा कि फिर भी एक सवाल का जवाब नहीं मिल रहा था कि कोविड-19 होने के बाद सीवीटी का खतरा कितना है? अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि Covid -19 होने के बाद CVT का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और इस बीमारी से खून के थक्के जमने संबंधी अन्य समस्याएं पहले भी हैं जो और बढ़ जाती है।

यह भी पढ़ें: Corona से सावधान: ये भी हो सकते हैं कोरोना के नए लक्षण 

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है