पहले Drone आतंकी हमले के बाद देश हर मोर्चे पर एक्टिव हो गया है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की उच्चस्तरीय बैठक में Drone के दुरुपयोग का मसला उठा है। यूएन की जनरल असेंबली में भारत ने इस मुद्दे को उठाते हुए कहा है कि हथियारबंद Drone का उपयोग आतंकी गतिविधियों में किया जा रहा है और इस पर पूरी दुनिया को ध्यान देने की जरुरत है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए कैबिनेट की बैठक बुलाई है

बता दें कि यूएन में दुनिया की काउंटर टेरेरिज्म एजेंसियों की हाई लेवल कॉन्फ्रेंस हुई। जिसमें आतंकी सुरक्षा के विशेष सचिव वीएसके कौमुदी ने भारत का पक्ष रखते हुए कहा कि सूचना और संचार तकनीक का दुरुपयोग और उभरती तकनीकों का आतंकी गतिविधियों में इस्तेमाल होना आतंकवाद के सबसे गंभीर खतरे के रुप में उभरा है

देश में हुए पहले ड्रोन हमले के बाद मामले की जांच भी तेज कर दी गई है। मामले की जांच एनआईए को सौंप दी गई है वहीं भारतीय वायुसेना के अधिकारी जल्द ही इस मामले को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को एक प्रजेंटेशन देंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस हमले के बाद मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है जिसमें जम्मू आतंकी हमले पर चर्चा के पूरे आसार हैं

यह भी पढ़ें: आसमान में उड़ते Drone क्यों होते हैं खतरनाक, जानिए वजह

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है