BJP के राज में भारत मस्जिदें गिराने में विश्व गुरू बन सकता है: Mehbooba Mufti

0
150

जब से Gyanvapi Masjid केस में अदालत का फैसला आया है तभी कुछ लोग खुश हैं तो कुछ लोग परेशान। लोगों को डर है कि कहीं बाबरी मस्जिद की तरह देश में बवाल न हो जाए। फिर से कोई मस्जिद न गिरा दी जाए। ऐसे में वाराणसी जिला अदालत के फैसले के बाद जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता Mehbooba Mufti ने भी निराशा जताई है। उन्होंने कहा कि अदालतें खुद अपने फैसले का सम्मान नहीं कर रही हैं। Mehbooba Mufti ने कहा कि भाजपा के राज में देश मस्जिदें गिराने में विश्व गुरू बन सकता है।

वाराणसी की जिला अदालत ने सोमवार को मुस्लिम पक्ष के प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया है और कहा है कि श्रृगांर गौरी मामले में सुनवाई हो सकती है। हिंदू पक्ष इसे अपनी जीत बता रहा है। अब इस मामले में अगली सुनवाई 22 सितंबर को होनी है। वहीं अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने कहा है कि वह हाई कोर्ट में अपील करेगी।

Mehbooba Mufti ने कहा, मेरे विचार में कोर्ट खुद अपने ही आदेश की अवहेलना कर रहे हैं। कानून में कहा गया है कि 1947 से पहले के सभी पूजा स्थल यथास्थिति में ही रहेंगे। चाहे वह मंदिर हो, मस्जिद हो या फिर किसी और धर्म का पूजा स्थल हो। संसद में इससे संबंधित कानून बना लेकिन अब अदालत ही इसका पालन नहीं कर रही है।

ज़रूरी मुद्दों से ध्यान हटाने का आरोप लगाते हुए Mehbooba Mufti ने कहा, भाजपा के पास लोगों के लिए रोज़गार नहीं हैं। लोग दिनों-दिन गरीब होते जा रहे हैं। महंगाई आसमान पर है। केवल दो बिजनसमैन अमीर हो रहे हैं और आम आदमी केवल परेशान हो रहा है। इसीलिए BJP हिंदू-मुस्लिम कार्ड खेलकर अपने मकसद में कामयाब होना चाहती है। वह मस्जिद गिराने मे भारत को विश्वगुरू बनाना चाहती है। बता दें कि फैसला आने के बाद भी Mehbooba Mufti ने अपने ट्विटर हैंडल से BJPपर हमला किया था।

Mehbooba Mufti ने ट्वीट कर कहा था, किसी को बोलने नहीं दिया जाता है…आवाज दबाई जा रही है। उपराज्यपाल को जनता का पैसा पीआर में खर्च करने की जगह भलाई में लगाना चाहिए। जमीन पर कुछ भी अच्छा नहीं है। गुज्जर, बक्करवाल, मुस्लिम, कश्मीरी पंडित, डोगरा और अन्य, सभी परेशान किए जा रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पहुंच रखने वाले कर्मचारियों का ट्रांसफर जम्मू कर दिया गया है और बाकी संघर्ष कर रहे हैं। बहुत सारे लोगों की सैलरी रोक ली गई है क्योंकि वे घाटी में काम करने नहीं जाना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें – Bigg Boss 16: Salman Khan का दावा इस बार शो में- ‘नहीं होगा कोई रूल’

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है