Corona के नए Variant के ख़तरे को देखते हुए Cm Yogi ने पहले ही की ये तैयारी

0
168

एक बार फिर से Corona Virus के New Variant ने लोगों को डराना शुरू कर दिया है। देश में Corona के नए Variant Omicron की पुष्टि होने पर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की सीमाओं पर चौकसी की व्‍यवस्‍था को बढ़ा दिया गया है।

Cm Yogi ने पीजीआई, केजीएमयू में जीनोम परीक्षण को तेज़ करने के आदेश दिए हैं। सीमावर्ती राज्यों से प्रदेश में आने वालों पर नजर रखी जाएगी। संदिग्धों की तत्काल जांच की जाएगी। संक्रमित पाए जाने की स्थिति में उनका Covid Protocol के तहत इलाज कराया जाएगा। वहीं RTPCR जांच की क्षमता वृद्धि के बाद अब जीनोम सीक्वेंसिंग की रफ्तार बढ़ाने की भी तैयारी है।

स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक डा. वेदव्रत सिंह के मुताबिक प्रदेश में फोकस टेस्टिंग के दायरे को बढ़ाते हुए स्‍क्रीनिंग, सर्विलांस, जांच को तेज़ी से बढ़ाया जा रहा है। कर्नाटक के बाद हैदराबाद में मिले नए Variant के चलते सर्वाधिक आबादी वाले यूपी में सर्तकता बरती जा रही है। उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में BSL-2 RTPCR प्रयोगशालाओं का संचालन किया जा रहा है।

Corona की पहली लहर के दौरान राज्य में जांच की सुविधाएं बेहद सीमित थीं। मगर अब UP में करीब ढाई लाख सैंपलों की जांच रोज किए जाने की क्षमता है। तमाम जिलों में बीएसएल-2 लैब खोली गई हैं। प्रदेश में बीएचयू, सीडीआरआई,आईजीआईबी, राम मनोहर लोहिया संस्‍थान, एनबीआरआई में नए Variant की जांच जरूरत पड़ने पर की जा सकती है। बता दें कि लखनऊ के एनबीआरआई में Corona की पहली लहर के बाद ही New Variant की जांच शुरू की थी। जिसमें 45 सैंपल जांचे गये थे। संभावित तीसरी लहर को देखते बीएचयू, केजीएमयू, सीडीआरआई व आईजीआईबी में नए Variant के जीनोम परीक्षण की प्रक्रिया की जा सकती है जिससे जांच प्रक्रिया प्रदेश में रफ़्तार पकड़ेगी।

यह भी पढ़ें – आप भी Gurugram में रहते हैं तो जान लें हज़ारों मकान मालिकों पर होगी FIR

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है