पुलिस ने इस तरह गैंगस्टर विकास दुबे के कुछ साथियों को पकड़ा,कुछ को मार गिराया

कई दिनों की कड़ी मेहनत के बाद यूपी के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल के दर्शन के लिए आया था। सबसे पहले उसे महाकाल मंदिर के गार्ड ने पहचाना और सूचना पुलिस को दी।

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे वारदात के बाद आज (9 जुलाई) को पुलिस की गिरफ्त में आया है। विकास दुबे के साथ साथ उसके साथियों को पकड़ना भी पुलिस और यूपी एसटीएफ के लिए बड़ी चुनौती थी। सब कुछ इतना आसान नहीं था लेकिन पुलिस ने दिन रात मेहनत करके कुछ आरोपियों को पकड़ा तो कुछ तो मार गिराया।

जानें किस तरह पुलिस के हाथ लगे विकास दुबे के साथी :

2 जुलाई को विकास दुबे को गिरफ्तार करने 3 थानों की पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी, जहां विकास की गैंग ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।

3 जुलाई को पुलिस ने सुबह 7 बजे विकास के मामा प्रेमप्रकाश पांडे और सहयोगी अतुल दुबे का एनकाउंटर कर दिया। 20-22 नामजद समेत 60 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। विकास पर 2.5 लाख, अमर पर 25 हजार और दूसरे लोगों पर 18-18 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया।

5 जुलाई को पुलिस ने विकास के नौकर और खास सहयोगी दयाशंकर उर्फ कल्लू अग्निहोत्री को घेर लिया। पुलिस की गोली लगने से दयाशंकर जख्मी हो गया। उसने खुलासा किया कि विकास ने पहले से प्लानिंग कर पुलिसकर्मियों पर हमला किया था।

6 जुलाई को पुलिस ने अमर दुबे की मां क्षमा दुबे और दयाशंकर की पत्नी रेखा समेत 3 को गिरफ्तार किया। शूटआउट की घटना के वक्त पुलिस ने बदमाशों से बचने के लिए क्षमा दुबे का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन क्षमा ने मदद करने की बजाय बदमाशों को पुलिस की लोकेशन बता दी। रेखा भी बदमाशों की मदद कर रही थी।

8 जुलाई को यूपी एसटीएफ ने विकास के बॉडीगार्ड अमर दुबे को बुधवार(8 जुलाई) सुबह हमीरपुर के मौदहा एनकाउंटर में मार गिराया गया।

9 जुलाई को  सुबह विकास दुबे के दो और साथी प्रभात मिश्रा और बउआ दुबे पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। पुलिस ने बताया कि कानपुर पुलिस की टीम फरीदाबाद में गिरफ्तार विकास दुबे के खास प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी उसी दौरान रास्ते में प्रभात ने भागने की कोशिश की, इसी बीच उसने पुलिस पर फायरिंग भी की, जिसके बाद पुलिस ने भी उस पर गोली चलाई और वह घायल हो गया। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं विकास का दूसरा साथी बउआ दुबे भी इटावा में मारा गया। यह जानकारी इटावा एसएसपी आकाश तोमर ने दी। हालांकि उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे। इटावा पुलिस ने आस-पास के जिले को अलर्ट कर दिया है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है