संसद में टोपी पहन सकते हैं तो कॉलेज में Hijab क्यों नहीं :Asaduddin Owaisi

0
228

बेहद मामूली सी बात को इतना बड़ा क्यों किया जा रहा है ये बात शायद ही किसी को समझ आए। कर्नाटक के कॉलेज में Hijab को लेकर शुरू हुआ विवाद अब बड़ा रूप लेता जा रहा है। इस मामले में AIMIM चीफ Asaduddin Owaisi ने कहा है कि भाजपा लोगों को भड़काने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर संसद में टोपी पहनी जा सकती है तो स्कूल कॉलेज में Hijab पहनने में क्या आपत्ति है।

Asaduddin Owaisi ने कहा, ‘मैं अपने संविधान की बात कर रहा हूं। मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले की बात कर रहा हूं। अगर हम टोपी पहनकर संसद जा सकते हैं तो एक लड़की Hijab पहनकर कॉलेज क्यों नहीं जा सकती। 2014, 2017 और 2019 में भाजपा ने इसी दम पर जीत हासिल की है। कट्टरवाद कहां से आ रहा है? तथाकथित सेक्युलर पार्टियों ने भी अपने आंख कान बंद कर लिए हैं।’

कर्नाटक के कई कॉलेजों में इस विवाद ने तूल पकड़ लिया है। उडुपी के कॉलेज में इसी बात को लेकर नारेबाजी भी हुई। मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई ने छात्रों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने राज्य में तीन दिन के लिए स्कूल और कॉलेज बंद करने का ऐलान कर दिया है। बता दें कि कर्नाटक में उडुपी के एक कॉलेज में छह लड़कियों के क्लास में घुसने से इसलिए रोक दिया गया था क्योंकि उन्होंने कॉलेज का यूनीफॉर्म नहीं पहना था बल्कि Hijab पहन रखा था। इसके बाद लड़कियां धरने पर बैठ गईं। कॉलेज के न मानने पर वे High Court पहुंच गईं। कल इस मामले में High Court में सुनवाई हुई थी। कोर्ट ने कहा था कि किसी की निजी मान्यताओं से ज्यादा जरूरी संविधान और कानून है।

यह भी पढ़ें – Hijab विवाद: Priyanka Gandhi ने कहा, यह तय करना महिलाओं का अधिकार है कि उन्हें क्या पहनना है

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है